पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • प्रत्याशियों को इस बार देनी होगी विस्तृत जानकारी

प्रत्याशियों को इस बार देनी होगी विस्तृत जानकारी

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
झारखंडविस चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग दो दिसंबर हो होगी। इसके लिए शुक्रवार को अधिसूचना जारी की जाएगी। प्रत्याशियों को इस बार नामांकन पर्चा भरने में काफी सावधानी बरतनी होगी। क्योंकि चुनाव आयोग ने इस बार विस चुनाव के प्रत्याशियों को संपत्ति घोषणा आपराधिक केस की विस्तृत जानकारी दस्तावेज के साथ जमा करने का आदेश दिया है। आयोग ने इसके लिए कई प्रकार की जानकारी मांगी है। पिछले झारखंड विस चुनाव 2009 में प्रत्याशियों से आयोग ने सिर्फ संपत्ति केस की जानकारी ही मांगी थी। मगर इस चुनाव में प्रत्याशियों को संपत्ति का पूर्ण ब्योरा देना अनिवार्य कर दिया है। इसके साथ प्रत्याशियों को लंबित आपराधिक केस , सजायाफ्ता हुए तो कितने साल की मिली थी सजा और बरी करने वाली अदालत का दस्तावेज सौंपना होगा।

^इस बार चुनाव आयोग ने झारखंड विस चुनाव के लिए प्रत्याशियों से संपत्ति आपराधिक केस का पूर्ण ब्योरा मांगा है। आयोग के फार्मेट में प्रत्याशियों को सभी प्रकार की विस्तृत जानकारी, संपत्ति किसके नाम, सभी परिवार के सदस्यों के पास कितनी संपत्ति है। प्रत्याशी के खिलाफ कितने केस लंबित हैं। वह किस कोर्ट में हैं। सजा कब मिली थी, सजा से बरी करने वाली अदालत का नाम का भी आयोग को सौंपने वाले शपथ पत्र में देना अनिवार्य कर दिया गया है।^ देवेंद्रसिंह, अधिवक्ता,जमशेदपुर कोर्ट

आपराधिक केस में ये जानकारी देना है अनिवार्य

}ऐसेप्रत्याशी जिन पर आपराधिक केस दर्ज हैं, तो वैसे प्रत्याशी को थाना कांड संख्या

}किस कोर्ट में केस विचाराधीन है, कोर्ट का नाम, कितने सालों से लंबित है

}कोर्ट ने कब संज्ञान लिया, उसकी विस्तृत जानकारी

}कब कोर्ट में चार्ज फ्रेम हुआ यानी आरोप गठित करने वाली अदालत का नाम

}सजा पाने वाले प्रत्याशी को किस कोर्ट ने कब और किस मामले में सजा सुनाई

}कितने साल की सजा कोर्ट ने दी, उस कोर्ट का नाम

}कब सजा से बरी हुए उस कोर्ट का नाम

ये हैं आयोग के निर्देश

>प्रत्याशीनामांकन दर्ज करने समय संपत्ति का पूर्ण ब्योरा दे

>संपत्ति में मकान कहां-कहां, किसके नाम से मकान

>मकान जिनका किराए का है, तो उसका भी हवाला देना अनिवार्य

>परिवार में किसकी कितनी संपत्ति, बेटा, बेटी, प|ी, भाई अन्य का।

>प्रत्याशी को परिवार समेत सभी के पास नकद जमा, ज्वेलर्स का ब्योरा

आपराधिक मामलों और संपत्ति की जा