पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीपीएन मध्य विद्यालय, सोनारी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
स्थिति - सीपीएनमध्य विद्यालय, सोनारी में बेंच-डेस्क तो दूर कक्षा तक नहीं हैं। यहां गलियारे में बैठाकर बच्चों को पढ़ाते हैं। बैठने के लिए घर से चटाई भी लानी पड़ती है। संकीर्ण गलियारे में बच्चों को बैठने में भी परेशानी होती है। किसी तरह गलियारे में बैठकर टाइम पास करना इनकी नीयति बन गई है। इस गलियारे में बेंच-डेस्क लगाना संभव नहीं है। शिक्षा विभाग के अफसरों की सेहत पर शिक्षा मंत्री के आदेश का तनिक भी असर नहीं पड़ रहा है।

केजी के बच्चों के लिए राउंड टेबल की खरीदारी नहीं हुई है। इसके चलते फर्श पर छोटे बच्चे पढ़ाई करते हैं। जल्द ही बेंच डेस्क खरीदा जाएगा। ममताकुमारी, प्राचार्या, प्राथमिक विद्यालय खासमहल, कीताडीह।

बेंच डेस्क की खरीदी हो रही है। फंड उपलब्ध करा दिया गया है। जिन स्कूलों में बेंच डेस्क की खरीदी नहीं हुई हैं उनको जल्द खरीदारी करने के आदेश दिए गए हैं। इसपर स्कूल प्रिंसिपल को ध्यान देने की जरूरत है। बांकेबिहारी सिंह, जिला शिक्षा अधीक्षक, पूर्वी सिंहभूम।

DB Star EXPOSE

जिले में 120 ऐसे स्कूल हैं, जहां अब भी पर्याप्त मात्रा में बेंच-डेस्क उपलब्ध नहींे हैं। कुछ स्कूलों में कक्षा की भी कमी है। ऐसे में आधे बच्चे डेस्क पर तो आधे फर्श पर बैठकर पढ़ने को विवश हैं। साथ ही, गलियारे में चटाई बिछाकर मास्साब कक्षा लगाते हैं। तीन दिन पहले शिक्षा मंत्री ने घोषणा की थी कि फर्श पर बच्चों को पढ़ाया तो कार्रवाई होगी। मगर शिक्षा विभाग के अफसर कार्रवाई करने के नाम पर चुप हैं।

120 स्कूलों के 5000 बच्चे फर्श पर बैठ कर रहे हैं पढ़ाई; मंत्रीजी अब तो कीजिए कार्रवाई!

खबरें और भी हैं...