• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • लोहे की सीढ़ी हाईटेंशन तार से सटी लेबर हेड समेत सात मजदूर झुलसे

लोहे की सीढ़ी हाईटेंशन तार से सटी लेबर हेड समेत सात मजदूर झुलसे

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उलीडीहथाना अंतर्गत परमानंद नगर में मकान निर्माण के दौरान लोहे की सीढ़ी हाईटेंशन तार (11 केवी) से सट गई। करंट लगने से छह मजदूर घायल हो गए। मजदूरों को बचाने पहुंचा उनका लेबर हेड भी करंट की चपेट में आकर झुलस गए। इस दौरान अफरातफरी मच गई। इसके बाद बस्तीवासी जुटे और लोगों को बचाया। लोगों ने सभी घायलों को एमजीएम अस्पताल पहुंचाया। वहां से तीन मजदूरों को बेहतर इलाज के लिए टीएमएच रेफर कर दिया गया। झुलसे मजदूरों में भरत कर्मकार, सुरेश गोराई, संजीत हेंब्रम, कार्तिक सांडिल, संदीप राय निताई मुंडा शामिल है। घटना शुक्रवार सुबह करीब 9.30 बजे की है।

एमजीएम अस्पताल में भर्ती मजदूरों ने बताया- परमानंद नगर में कुमार बाबू के दोतल्ला मकान का काम चल रहा था। जिस जगह मकान बनाने का काम चल रहा है, वहां हाईटेंशन तार की ऊंचाई काफी कम है। सुबह मजदूर लोहे की सीढ़ी लगा रहे थे। इसी दौरान सीढ़ी हाईटेंशन तार की चपेट में गई और मजदूर करंट की चपेट में गए। इसके बाद एक-दूसरे को बचाने के चक्कर में छह मजदूर तार की चपेट में आकर झुलस गए। लेबर हेड मजदूरों को बचाने पहुंचा, लेकिन वह भी करंट लगने से झुलस गया।

झुलसे मजदूरों को इलाज के लिए पहले एमजीएम अस्पताल भर्ती कराया गया। वहां की व्यवस्था देख मजदूरों के परिजन व्यथित हो गए। फिर निताई मुंडा समेत तीन मजदूरों को बेहतर इलाज के लिए शाम में टीएमएच में भर्ती कराया गया। निताई मुंडा की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। टीएमएच के डॉक्टरों के अनुसार, निताई 50 प्रतिशत से अधिक झुलस गया है। अन्य दो मरीजों की स्थिति स्थिर है। एमजीएम में इलाजरत चार मरीजों की स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है। यहां इलाजरत मरीजों के हाथ-पैर जले हैंं।

इसी मकान के बाहर सीढ़ी लगाने के दौरान मजदूर करंट की चपेट में आए। लाल घेरे में वह स्थान, जहां नीचे झूल रहे हाईटेंशन तार से सीढ़ी सटा।

खबरें और भी हैं...