पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • दूल्हा पहुंचा हाजत दुल्हन ने रचाई शादी

दूल्हा पहुंचा हाजत दुल्हन ने रचाई शादी, गम का माहौल खुशी में बदल गया

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जमशेदपु। सिदगोड़ा के बागुनहातू रोड नंबर-4 से शुक्रवार को सोनारी मनबोध मुहल्ला बारात जानी थी। लेकिन, इससे पहले ही सिदगोड़ा पुलिस ने दूल्हे को हाजत पहुंंचा दिया। पुलिस के अनुसार, बागुनहातू रोड नंबर तीन की रहनेवाली युवती सुमी कुमारी श्रेष्ठा ने शिकायत की थी कि राजेश कुमार यादव नाम के युवक ने उससे शादी की थी और अब वह दूसरी लड़की से शादी करने जा रहा है।
युवती की शिकायत पर पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। दूसरी ओर, काशीडीह निवासी अजीत सिंह ने एक घर को बर्बादी से बचा लिया। जिस लड़की से राजेश ब्याह रचाने जा रहा था, उसका दामन अजीत ने थाम लिया।
क्या है मामला
सुमी के मुताबिक, वर्ष 2012 में राजेश ने उसके साथ कोर्ट मैरेज किया था। उसने शादी की भनक घरवालों को नहीं देने की बात कही थी। भरोसा दिलाया था कि बहन की शादी के बाद वह घरवालों के सामने बात रखेगा। इसी बीच राजेश के घरवालों ने उसकी शादी सोनारी मनबोध मोहल्ला में तय कर दी। शुक्रवार को शादी होनी थी। गुरुवार को उसे जानकारी हुई तो वह राजेश के घर गई। इस पर राजेश और उसके घरवाले मारपीट करने लगे। मोबाइल भी तोड़ दिया। इसके बाद उसने सिदगोड़ा पुलिस से शिकायत की। शुक्रवार को बारात जाने वाली थी कि पुलिस ने राजेश को पकड़ लिया।
हाजत में सुनाई खरी-खोटी : सोनारी मनबोध मोहल्ला में वधु पक्ष के लोग बारात के इंतजार में थे। देर शाम उन्हें पता चला कि दूल्हा सिदगोड़ा थाना हाजत में बंद है। जानकारी मिलने पर दुल्हन बनकर बैठी सुबेरा व उसके परिजन थाना पहुंचे। थाना में राजेश को खूब खरी-खोटी सुनाई और लौट गए। सोनारी में इस घटना से चर्चा का बाजार गर्म हो गया। कन्या पक्ष के लोग भविष्य के प्रति चिंतित थे।
तभी काशीडीह का अजीत सिंह आगे आया और दुल्हन के रूप में सजी सुबेरा के साथ शादी करने का प्रस्ताव रखा। फिर क्या था, गम का माहौल खुशी में बदल गया। दोनों के घरवाले और लोगों की उपस्थिति में अजीत और सुबेरा की शादी धूमधाम से कराई गई। दूसरी ओर, सिदगोड़ा पुलिस राजेश से थाना में पूछताछ कर रही है।