• Hindi News
  • National
  • नवंबर तक िजले के कॉलेजों में दूर होगी शिक्षकों की कमी

नवंबर तक िजले के कॉलेजों में दूर होगी शिक्षकों की कमी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सबकुछठीक रहा तो गिरिडीह समेत अन्य जिलों के किसी एक कॉलेज में इवनिंग कॉलेज शुरू हो सकता है। इवनिंग कॉलेज कामकाजी लोगों की पढ़ाई के लिए होगा। यह यह प्रस्ताव प्रारंभिक चरण में है। शनिवार को विभावि (विनोबा भावे विश्वविद्यालय) हजारीबाग में हुई प्राचार्यों की बैठक में इसपर चर्चा हुई। राज्य मुख्यालय से विस्तृत मार्गदर्शन का इंतजार हो रहा है।

नवंबर तक कॉलेजों में शिक्षकों की समस्या कुछ हद तक खत्म हो जाएगी। गेस्ट टीचर की नियुक्ति प्रक्रिया जल्द शुरू हो जाएगी। सबसे पहले कॉमर्स, अंग्रेजी फिजिक्स के लिए साक्षात्कार शुरू होने की बात कही जा रही है। उसके बाद अन्य विषयों के लिए प्रक्रिया शुरू होगी। नवंबर तक कॉलेजों को गेस्ट टीचर मिल जाएंगे। शनिवार को विभावि में कुलपति डॉ. रमेश शरण की अध्यक्षता में प्राचार्यों की बैठक हुई। बैठक में मास्टर रूटीन, गेस्ट टीचर की आवश्यकता एजेंडा के अन्य बिंदुओं पर चर्चा हुई। नैक की तैयारी के लिए आवंटित राशि के संबंध में उपयोगिता प्रमाण पत्र की मांग की गई। इंटर की पढ़ाई अलग से संचालित करने के लिए विवि की ओर से फंड दिया जाएगा। पीजी के नौवें पेपर को वैकल्पिक बनाने के संबंध में जल्द ही आदेश जारी कर दिया जाएगा। पीके राय कॉलेज के प्राचार्य डा. एसकेएल दास ने यह मामला उठाया। नौवीं पेपर की पढ़ाई अभी दूसरे विषय से करनी पड़ती है। वैकल्पिक होने पर छात्र अपने ही विषय से नौवें पेपर का चयन कर पाएंगे। सेमेस्टर वन, फाइव सिक्स के सिलेबस में कुछ कमी कर परीक्षा जल्द लेने पर भी विचार चल रहा है।

खबरें और भी हैं...