कानून की जानकारी से दूर होगी महिला हिंसा : वंदना / कानून की जानकारी से दूर होगी महिला हिंसा : वंदना

Medininagar News - केवलसरकारी कानून से महिलाओं की स्थिति में सुधार नहीं होगी। उन्हें घरेलू हिंसा और डायन बिसाही के पीड़ा से बचाने के...

Bhaskar News Network

Nov 29, 2014, 02:40 AM IST
कानून की जानकारी से दूर होगी महिला हिंसा : वंदना
केवलसरकारी कानून से महिलाओं की स्थिति में सुधार नहीं होगी। उन्हें घरेलू हिंसा और डायन बिसाही के पीड़ा से बचाने के लिए यह जरूरी है कि सरकार द्वारा बनाये गये कानूनों को गांव तक पहुंचाया जाये। यह बात वंदना टेटे ने कही।

वे प्यारा केरकेट्टा फाउंडेशन, ऑक्सपेम और युवा मंच की ओर से जीएलए कालेज में आयोजित महिला हिंसा प्रतिरोध पखवाड़ा के तहत आयोजित सेमिनार में बोल रही थी। कॉलेज की छात्राओं के बीच महिला जागरूकता पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि घरेलू हिंसा अधिनियम 2005 के तहत महिलाओं को काफी अधिकारी दिये गये हैं।

यह अधिनियम महिलाओं को मदद पहुंचाने में काफी मददगार साबित हो सकता है। लेकिन इसके लिए जरूरत इस बात की है कि महिलाओं को इस कानून और उनके अधिकार के बारे में बताया जाये।

उन्होंने कहा कि सरकार केवल कानून बना देती है। लेकिन उसका क्रियान्वयन इसलिए नहीं हो पाता क्योंकि जिनके लिए यह कानून बनाया गया है, वे ही नहीं जानते कि कानून किस तरह उनकी मदद कर सकता है। वंदना टेटे ने कहा कि किस कानून से किसे और कहां जाने से मदद मिल सकती है, महिलाओं को यह बताने की जरूरत है। क्योंकि कानून की जानकारी ही महिला हिंसा को दूर करेगी। मौके पर जीएलए कॉलेज के हिंदी के प्राध्यापक डॉ. कुमार वीरेंद्र ने कहा कि कॉलेज और विश्वविद्यालय की छात्राओं में इस बात की जागरूकता सबसे जरूरी है। क्योंकि जब वे इस कानून को जानेंगी तब दूसरी महिलाओं की अपेक्षा औरों को बेहतर तरीके से बताने में सक्षम होंगी। उन्होंने कहा कि केवल किताबी अध्ययन ही किसी भी शिक्षा का उद्देश्य नहीं होना चाहिए।

महिलाओं को जागरूक करें

छात्राएं पहले खुद जागरूक बने और फिर अन्य महिलाओं को जागरूक करें। समाज के प्रति सचेत रहना भी विद्यार्थियों की जिम्मेवारी है। छात्राएं पाठय़क्रम से बाहर निकलकर सामाजिक गतिविधियों पर भी नजर रखें। नारी समाज की नयी पीढ़ी खुद जागरूक रहे तथा औरों को भी जागरूक करेंं। कार्यक्रम की अध्यक्षता संचालन करते हुए डॉ. कैलाश उरांव ने कहा कि महिलाओं और छात्राओं को हिंसा के शिकार होने से रोकने के लिए उनके बीच जागरूकता पैदा करना सबसे अहम बात है। डायन-बिसाही की घटनाएं महिलाओं की जीवन की त्रासदी है।

X
कानून की जानकारी से दूर होगी महिला हिंसा : वंदना
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना