पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • शिक्षकों को बताया बच्चों को कैसे दें नैतिक मूल्य का ज्ञान

शिक्षकों को बताया-बच्चों को कैसे दें नैतिक मूल्य का ज्ञान

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उड़ानकार्यक्रम के तहत तरुण शिक्षा प्रशिक्षण के अंतर्गत बैच तीन चार के प्रशिक्षणार्थियों को ट्रेनरों द्वारा किशोरवय बच्चों को गाइड करने की जानकारी दी गई। शिक्षकों को यह बताया गया कि किस तरह वे बच्चों को जीवन कौशल, जीवन के लक्ष्य तथा उनमें नैतिक मूल्यों को भरने का काम करेंगे।

इस दाे दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में उद्घाटन के अवसर पर पहुंची जिला शिक्षा पदाधिकारी मीना कुमार राय ने कार्यक्रम की सार्थकता पर चर्चा की। उन्हाेंने कहा कि सरकार इस तरह के प्रशिक्षण के कार्यक्रमों पर यदि पैसा खर्च कर रही है तथा प्रशिक्षण के लिए ऐसे कार्यक्रम के आयोजन किए जा रहे है तो इसकी सार्थकता भी साबित होनी चाहिए। डीईओ ने कहा कि इस प्रशिक्षण का लाभ बच्चों को भी मिले हर शिक्षक द्वारा यह प्रयास किया जाना चाहिए।

डीईओ ने कहा कि शिक्षकों से हम सबकी यह अपेक्षा है कि प्रशिक्षण में शामिल युवा शिक्षक लंबे समय तक बच्चों को गाइड कर सकेंगे।

प्रशिक्षण में कुल 22 प्रतिभागी शामिल हुए। ट्रेनर के रूप में विश्वजीत कुमार चौबे, नीरज कुमार शाही, संधिसुधा, डॉ. मंजु पांडेय ने शिक्षकों को प्रशिक्षित किया। जबकि प्रदेश प्रतिनिधि के रूप में आब्जर्वर विजय सुवर्णी मौजूद थे।

आठ बैच में शिक्षकों को मिलेगा प्रशिक्षण

तरूणशिक्षा कार्यक्रम के तहत जिले के 180 विद्यालयों के 360 शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इसे लेकर शिक्षकों के कुल 8 बैच बनाए गए हैं, जिसमें प्रथम द्वितीय बैच का प्रशिक्षण पूरा होने के बाद तीसरे चौथे बैच का प्रशिक्षण शुरू किया गया है। प्रशिक्षण के तहत सभी राजकीय, राजकीयकृत परियोजना तथा कस्तूरबा की दो-दो शिक्षक को शामिल किया गया है।

मेदिनीनगर : उड़ान कार्यक्रम में प्रशिक्षण लेते प्रशिक्षाणार्थी।

खबरें और भी हैं...