पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • राजनीतिक शून्यता के कारण कश्मीर में अलगाववादी ताकतें पनप रहीं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राजनीतिक शून्यता के कारण कश्मीर में अलगाववादी ताकतें पनप रहीं

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मेदिनीनगर | जम्मूऔर कश्मीर की स्थिति पर खुली बहस का आयोजन किया गया। पंकज श्रीवास्तव की अगुवाई में संवाद के तहत आयोजित खुली बहस में पिछले दिनों कश्मीर में रहकर आए सेवानिवृत्त बैंक कर्मी अजय सिंह ने वहां के हालात पर बात की। उन्होंने आंखों देखी स्थिति का वर्णन किया।

अजय सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लेागों के मन में भारत की संस्कृति वास करती है। उनमें आतिथ्य सत्कार की भावना बहुत गहरी है। जम्मू कश्मीर का हर व्यक्ति बाहर से जाने वाले लोगों और सैलानियों का अपनेपन के साथ स्वागत करता है। अजय सिंह का जम्मू कश्मीर पिछले 12-13 वर्षों से आना-जाना रहा है। उनका बेटा कश्मीर में कार्यरत है। पिछला छह महीना भी वे वहीं गुजारकर लौटे हैं। अपनी बातचीत में उन्होंने कश्मीरियत और वहां की जम्हूरियत के बारे में जो बताया उसका मूल यही है कि कश्मीर में राजनीतिक शून्यता के कारण हूर्रियत जैसी ताकतों को आगे बढ़ने और वहां के आवाम में अलगाववादी सोच पैदा करने में सफलता मिली है। चाहे कांग्रेस हो, नेशनल कांफ्रेंस हो या पीडीपी, वहां कोई पार्टी नहीं है। बस एक ही पार्टी है हूर्रियत। अलबत्ता हाल के दिनों में गिलानी महत्वहीन हो गए हैं। वहां महबूबा ही सबकुछ हैं। लेकिन एक बात जो वहां नहीं है, वह है लोकतंत्र के प्रति आस्था और राजनीतिक जागरुकता का अभाव। मौके पर मौजूद अखिलेश्वर सिन्हा ने कहा कि कश्मीर के लेाग हमारे हैं।

हमें उनके बारे मेें भी सोचना चाहिए। वहां बेहतर वातावरण निर्माण में हमसको अपनी भूमिका निभाने की जररूत है। कार्यक्रम का संचालन पंकज श्रीवास्तव ने किया। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास ज्वलंत मुद्दे पर एक भारतीय हाेने की दृष्टिकोण से खुली चर्चा करना है। आगे भी हमारा यह प्रयास जारी रहेगा। इस अवसर पर उपेंद्र मिश्रा, रविशंकर, शशिकांत आदि मौजूद थे।

मेदिनीनगर संवाद कार्यक्रम में बोलते अतिथि।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें