पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • कुछ बदली परिस्थितियां नजर आएंगी जामताड़ा में

कुछ बदली परिस्थितियां नजर आएंगी जामताड़ा में

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
>जनता के मन को भांपना आसान नहीं

भास्करन्यूज| जामताड़ा

संथालपरगनाप्रमंडल में जामताड़ा जिले में दो विधानसभा सीट है। जामताड़ा नाला दोनों अनारक्षित सीटें हैं। गत विधानसभा चुनाव 2009 में नाला विधानसभा सीट राष्ट्रीय पार्टी भाजपा की झोली में गई थी। यहां से पहली बार सत्यानंद झा उर्फ बाटुल विधायक बने थे। वहीं जामताड़ा विधानसभा सीट से क्षेत्रीय पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा के प्रत्याशी विष्णु प्रसाद भैया लगातार दूसरी बार विधायक चुने गए।

इस चुनाव में दोनों निवर्तमान विधायकों को पुन: राष्ट्रीय क्षेत्रीय पार्टी की ओर से विधायक प्रत्याशी के रूप में चयन किया गया है। इस बार चुनावी परिस्थिति कुछ बदली सी नजर रही है। जामताड़ा विधानसभा से सभी पार्टियों के उम्मीदवारों की घोषणा नहीं हो पाई है। इस कारण अभी तक का जो चुनावी माहौल है उसके आधार पर जनता अटकल का बाजार फिलहाल झामुमो के विष्णु प्रसाद भैया भाजपा के विरेंद्र मंडल पर केंद्रित रखी है। कांग्रेस, झाविमो अन्य दलों के उम्मीदवारों के नाम की घोषणा अभी तक नहीं हो पाई है। वहीं दूसरी ओर नाला विधानसभा में कई प्रत्याशियों के नाम सामने रहे हैं। भाजपा से सत्यानंद झा बाटुल, झामुमो से रवींद्रनाथ महतो, माकपा से कन्हाई माल पहाड़िया, झाविमो से माधवचंद्र महतो समेत भाकपा माले अन्य उम्मीदवार चुनाव में सशक्त दावेदारी पेश करने के मंसूबा पाले हुए हैं। इस बार के विधानसभा चुनाव में जनता के मन को भांपना आसान नहीं है। सभी पल-पल बदलते राजनीतिक गतिविधि पर नजर रख रहे हैं। कुछ राष्ट्रीय दल विशेष में भीतरघात की राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। कुछ कार्यकर्ता मन मुताबिक उम्मीदवार नहीं मिलने के कारण असंतुष्ट नजर रहे हैं। जो चुस्ती-फुर्ती कार्यकर्ताओं में दिखनी चाहिए वह फिलहाल कुंद प्रतीत हो रहा है।