• Hindi News
  • National
  • 600 करोड़ रुपए से बन रही 390 किमी लंबी सड़क घटाएगी 18 प्रखंडों की दूरियां

600 करोड़ रुपए से बन रही 390 किमी लंबी सड़क घटाएगी 18 प्रखंडों की दूरियां

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सुनील कुमार सिन्हा| चाईबासा

पश्चिमीसिंहभूम में रोड कनेक्टिविटी बढ़ाने का काम तेज कर दिया गया है। पिछले करीब 4 साल से चल रही यह कवायद जल्दी पूरी होने जा रही है। इससे केवल जिले के 18 प्रखंडों की दूरियां घट जाएंगी, बल्कि कई प्रखंड पड़ोसी राज्य ओड़िशा से भी जुड़ जाएंगे जिले में कुल 390 किमी लंबी सड़क बनाई जा रही है। इस पर अब तक करीब 600 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। करीब 20 से ज्यादा सड़कों के इस जाल से केवल यातायात सुगम हो जाएगा, बल्कि क्षेत्र का विस्तार भी हो सकेगा। सड़क विस्तारीकरण चौड़ीकरण से सैकड़ों लोगों को रोजगार भी मिल सकेगा। राज्य की मुख्य सचिव भी इसे लेकर काफी गंभीर है। विभागीय अधिकारी कर्मी भी जिले में बेहतर सड़क बनाने को लेकर लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। इनमें से कई सड़कें बनकर तैयार भी हो गई हैं। सिकुरसाई- कुरसी - बंदोडीह मार्ग के खरकई नदी पर करीब 14 करोड़ की लागत से पूल का निर्माण भी किया जा रहा है। पूल बनने से उड़िसा से सीधा संपर्क हो जाएगा।

ग्रामीणोंको मिला मुआवजा

सड़कविस्तारीकरण चौड़ीकरण के क्रम में दर्जनों ग्रामीणों के मकान दुकानों को तोड़ा गया है। कुछ ग्रामीणों की जमीन का अधिग्रहण भी करना पड़ा है। लिहाजा रोड कंस्ट्रक्शन डिपार्टमेंट ऐसे भू स्वामियों को करोड़ों रुपए का मुआवजा भी दे रहा है। मुआवजे की राशि सड़क की प्राक्कलित राशि में ही शामिल रहने के कारण इसके वितरण में परेशानी नहीं हो रही।

{सड़कों के बनने से आवागमन सुगम हो जाएगा

{ लोग जिले के हर प्रखंड क्षेत्र में आसानी से आना-जाना कर सकेंगे

{ चौड़ी सड़क के कारण ट्रैफिक लोड कम हो जाएगा

{ सड़कों पर दुर्घटनाओं की आशंका कम हो जाएगी

{ जिले के लोग पड़ोसी राज्य ओड़िशा से जुड़ जाएंगे

{ प्रखंडों से जिलों की दूरियां कम हो जाएंगी

बंदोडीह गांव में हटाया गया अतिक्रमण

मौजूदासमय में सिकुरसाई से कुर्सी बंदोडीह तक सड़क बन रही है। इस कारण बंदोडीह में अतिक्रमण हटाने का काम लगभग पूरा कर लिया गया है। अतिक्रमण की जद में आए दर्जनों मकानों को तोड़ना पड़ा है। इस सड़क को तिरिंग (ओड़िशा) तक बनाने की योजना है। इससे चाईबासा से जमशेदपुर की दूरी करीब 20 किमी कम हो जाएगी। साथ ही इस सड़क के माध्यम से जिले के लोग सीधे ओड़िशा से भी जुड़ जाएंगे।

^विभाग जिले में बेहतर सड़क बनाने को लेकर काफी गंभीर है। सड़क बनने से लोगों का आवागमन आसान हो जाएगा। इसपर 600 करोड़ से भी ज्यादा रुपए खर्च किए जा रहे हैं। कई सड़कों का काम करीब पूरा हो चुका है। जो सड़कें पूरी नहीं हो पाईं हैं, उसे भी जल्दी ही पूरा कर लिया जाएगा। मनोरंजनप्रसाद सिन्हा, कार्यपालक अभियंता, पथ निर्माण विभाग

सड़क निर्माण और उस पर हो रहा खर्च

सड़ककिमी लागत राशि

चाईबासा-बाईपास रोड 4.2 किमी 10 करोड़ 72 लाख 18 हजार

चाईबासा- हवाई अड्‌डा रोड 4.2 किमी 7 करोड़ 72 लाख 26 हजार

भोया-पांड्राशाली रोड 5.575 किमी 6 करोड़ 95 लाख 30 हजार

चाईबासा- सैयतवा रोड 22.5 किमी 36 करोड़29 लाख

मझगांव- खैरपाल- जैंतगढ़-नोवामुंडी 29 किमी 31 करोड़ 14 लाख 61 हजार

हाटगम्हरिया मंझगांव बेनीसागर 44.485 किमी 50 करोड़ 4 लाख 55 हजार

तांतनगर-कुमारडुंगी- मझगांव 60 किमी 79 करोड़ 86 लाख 63 हजार

सिंह पोखरिया- झींकपानी- जगन्नाथपुर 26 किमी 67 करोड़ 14 लाख 68 हजार

कदाहातु चौक से उसामवीर 18.025 किमी 32 करोड़ 14 लाख 68 हजार

होबालकांड से खैरपाल 7 .06 किमी 9 करोड़ 75 लाख 55 हजार

जामडीह से हाटगम्हरिया 7.68 किमी 18 करोड़ 59 लाख 17 हजार

धनसारी- अंधारी- परमसदा 19.4 किमी 34 करोड़ 6 लाख 45 हजार

जेएमपी चौक से यशोदा चौक 1.615 किमी 4 करोड़ 28 लाख 54 हजार

रेलवे क्रॉसिंग से बड़ाचीरू पावर ग्रिड 19.4 किमी 10 करोड़ 25 लाख 12 हजार

चाईबासा टाउन रोड 10.83 किमी 6 करोड़ 95 लाख 60 करोड़

बांधपाड़ा से सिकुरसाई 2.033 किमी 3 करोड़ 62 लाख

सिकुरसाई कुर्सी रोड 10.875 किमी 32 करोड़ 1 लाख 46 हजार

तिरिलबूटा से पाम्पाड़ा रोड 5.825 किमी 13 करोड़ 73 लाख

सीकेपी- सोनुवा- गोइलकेरा 35.825 किमी 182 करोड़

चाईबासा- कोकचो- भरभरिया 33.628 किमी 63 करोड़

बंदोडीह में अतिक्रमण हटाने के क्रम में घरों को तोड़ता जेसीबी।

सिकुरसाई- कुरसी - बंदोडीह मार्ग के खरकई नदी पर निार्माणाीधीन पुल।

खबरें और भी हैं...