• Hindi News
  • National
  • डोभा निर्माण में कोताही पर उपायुक्त ने चेताया, 3 दिन का दिया अल्टीमेटम

डोभा निर्माण में कोताही पर उपायुक्त ने चेताया, 3 दिन का दिया अल्टीमेटम

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुवासाईस्कूल मैदान में सोमवार को जनता दरबार सह गरीब किसान मेला शिविर लगाया गया। इसमें लोगों की समस्याओं का समाधान किया गया। उपायुक्त डॉ शांतनु अग्रहरि ने मेला में लगे विभिन्न स्टॉलों का निरीक्षण किया। डोभा निर्माण में कोताही बरतने वाले सुबोध प्रमाणिक को तीन दिनों के अंदर निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करने को कहा। ऐसा नहीं करने पर सस्पेंड करने की चेतावनी दी। इसी तरह माप तौल के स्टॉल पर भी शाम चार बजे तक गुवा बाजार में निरीक्षण कर सही माप तौल की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा। उन्होंने गलत मिलने पर उस दुकानदार के ऊपर पेनाल्टी लगाने की बात कही। उपायुक्त ने गैस कनेक्शन स्टॉल के एजेंसी रेखा भारत को भी निर्धारित लक्ष्य से कम कनेक्शन देने पर फटकार लगायी। तीन हजार लोगों में से अब तक मात्र 800 लोगों को ही गैस कनेक्शन दिया गया है। अगर एक महीना में तीन हजार लोगों को गैस कनेक्शन का वितरण नहीं किया जाता तो एजेंसी को रद्द कर दिया जाएगा। इससे पूर्व उनका भव्य स्वागत किया गया। श्री अग्रहरि का स्वागत नोवामुंडी प्रखंड विकास पदाधिकारी अमरेन डांग ने गुलदस्ता देकर किया। उसके बाद कार्यक्रम का शुरुआत दीप प्रज्वलित कर किया गया। उन्होंने सभी स्टॉलों की जांच कर लोगों की समस्याओं का जल्द से जल्द समाधान करने का निर्देश दिया। इसके बाद सृष्टि की ओर से एक नुक्कड़ नाटक किया गया। अपनी सुरक्षा अपने हाथ का इसमें उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय नहीं रहने से क्या-क्या परेशानी होती है, उसे बताया।

वृहत जलापूर्ति योजना का टेंडर मार्च तक

गुवा| जनतादरबार सह गरीब किसान मेला मेला में शामिल ग्रामीणों को संबोधित करते हुए उपायुक्त ने कहा कि नोवामुंडी प्रखंड खनन से प्रभावित प्रखंड है। अब सरकार द्वारा खनन से प्रभावित क्षेत्रों के लिए एक जिला स्वच्छ पेयजल की स्थापना की जा रही है। काफी शिकायतें रही थीं कि गुवा तथा अन्य क्षेत्रों में पीने के पानी की बड़ी समस्या है। इसमें कुछ क्षेत्रों का चयन किया गया है, जहा वृहत जलापूर्ती योजना बनाई जाएगी। मार्च माह तक इसका टेंडर भी हो जाएगा।

पांच हजार लोगों ने रखीं समस्याएं

उसकेबाद विभिन्न क्षेत्रों से आए करीब पांच हजार लोगों ने अपनी अपनी समस्याएं उपायुक्त के समक्ष रखीं। उन्होंने सबकी समस्या को बारिकी से सुन सबका निदान करने का निर्देश दिया। मौके पर एसपी अनिस गुप्ता, जगन्नाथपुर एसडीओ मो. इस्तियाक अहमद, डीपीओ जेजेबी तिर्की, आईटीपीए सालम भुइयां, पीडब्लुओ सुब्रहम बारा, डीईओ प्रदीप चौबे, बीडीओ अमरेन डांग, सीओ रविकिशोर राम, डीएसपी मो तोकिर आलम, गुवा थाना प्रभारी संजय कुमार मौजूद थे।

गुवा में पंचायत भवन बनाने का काम 3 माह में होगा शुरू

डीसीने कहा कि गुवा में पंचायत भवन नहीं है। इसलिए गुवा पूर्वी पंचायत पश्चिमी पंचायत के लिए दो पंचायत भवन का निर्माण दो से तीन महीने में कार्य शुरू हो जाएगा। डिग्री कॉलेज की सबसे बड़ी समस्या है। जो बड़ाजामदा में है। इस समस्या के निदान के लिए तीन उच्च विद्यालयों को प्लस टू ग्रेड में दिसबंर माह से अपग्रेड कर दिया गया है। इसमें उच्च विद्यालय जटेया, उच्य विद्यालय गुवा प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय किरीबुरु। अब बच्चों को बारहवीं तक की पढ़ाई के लिए अप्रैल माह से सुविधा मिलने लगेगी। टाटीबा बरायबुरु में भी एक कैंप के माध्यम से प्राथमिक विद्यालय शुरू किया गया है।

नोवामुंडीप्रखंड में सिर्फ 77 आंगनबाड़ी का अपना भवन

उपायुक्तने कहा कि नोवामुंडी प्रखंड में कुल 135 आंगबाड़ी केंद्र होना चाहिए। सिर्फ 77 आंगबाड़ी केंद्र के पास ही अपनी बिल्डिंग है। अन्य आंगनबाड़ी केंद्र किराए के मकानों से संचालित हो रहे हैं। इस वर्ष नरेगा के माध्यम से 9 आगंबाड़ी केंद्र भवनों का निमार्ण कराया जा रहा है। प्रज्ञा केंद्र में अब कोई भी सर्टिफिकेट 30 दिन से ज्यादा बनने में नहीं लगेगी। उन्होंने कहा कि पुराने प्रज्ञा केंद्र को रद्द कर नए लोगों की बहाली की जा रही है। जगह-जगह शिविर लगाकर लाइसेंस, आधार कार्ड बनाने की सुविधा दी जा रही है। कहा कि विधवा पेंशन के लिए सीधे सीओ कार्यालय आकर फाॅर्म भरकर लाभ उठा सकते हैं।

गुवासाई स्कूल मैदान में आयोजित जनता दरबार सह गरीब किसान मेला में उपस्थित लोग।

जनता दरबार में लगे स्टालों को निरीक्षण करते उपायुक्त।

खबरें और भी हैं...