--Advertisement--

सरकार जमीन दे, तो खुलेगा एनडीआरएफ का सेंटर : डीजी

झारखंडसरकार यदि तीन से पांच एकड़ जमीन देती है तो झारखंड में भी एनडीआरएफ का स्थाई रीजनल रिस्पॉन्स सेंटर खोला जाएगा।...

Dainik Bhaskar

Aug 14, 2016, 03:15 AM IST
सरकार जमीन दे, तो खुलेगा एनडीआरएफ का सेंटर : डीजी
झारखंडसरकार यदि तीन से पांच एकड़ जमीन देती है तो झारखंड में भी एनडीआरएफ का स्थाई रीजनल रिस्पॉन्स सेंटर खोला जाएगा। झारखंड में बाढ़ नहीं के बराबर आता है, लेकिन अन्य प्राकृतिक आपदाएं जैसे भूकंप, आग और औद्योगिक रासायनिक आपदा के लिए एनडीआरएफ की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है।

ये जानकारी एनडीआरएफ के डीजी ओपी सिंह ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी। धुर्वा स्थित होमगार्ड प्रशिक्षण कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि अचानक चतरा में आई बाढ़ के लिए शुक्रवार को एनडीआरएफ की एक टीम भेजी गई है। शनिवार को गढ़वा के लिए दूसरी टीम भेजी गई है।

15हजार जवान दे रहे हैं सेवा : झारखंडके देवघर और रांची में भी एक-एक टीम काम कर रही है। एनडीआरएफ की देश में 12 बटालियन है। 23 आरआर सेंटर में 15 हजार जवान सेवा दे रहे हैं। वर्तमान में देश के विभिन्न राज्यों में 80 टीमें दो महीनों के अंदर आपदा से 10 हजार लोगों का बचाव किया।

बताया कि अभी एनडीआरएफ को एयरफोर्स या बीएसएफ पर निर्भर रहना पड़ता है। यदि एनडीआरएफ की अपनी एयरविंग हो तो अधिक लोगों की जान बचाई जा सकती है। एनडीआरएफ को सरकार द्वारा दी गई नागपुर में 200 एकड़ जमीन में यदि अकादमी का गठन कर अधिक से अधिक लोगों को दक्ष किया जाए तो स्थिति और भी बेहतर होगा। जल्द राहत कार्य शुरू होगा।

एक टीम में 45 लोग होते हैं, जिसमें सभी पूर्णरूप से प्रशिक्षित और बचाव सामग्री से लैस रहते हैं। टीम का मुख्य उद्देश्य तत्काल पहुंचकर राहत पहुंचाना होता है। इसके लिए 20 मिनट के अंदर तैयार होकर टीम एयरपोर्ट पहुंच जाती है। जहां से देश के किसी भी भाग में विमान या हेलीकाॅप्टर से भेजी जाती है। पूरी टीम में डाॅक्टर, वाटर एंबुलेंस, मोबाइल अस्पताल आदि रहते हैं।

ओपी सिंह ने कहा कि देश के विभिन्न भागों में रहने वाले लोगों को प्राकृतिक आपदा से बचने के लिए उनके बीच जागरूकता फैलाई जाती है। क्योंकि, आपदा की 70 प्रतिशत समस्याएं स्थानीय लोग खुद से हल कर लेते हैं। इसके लिए स्कूल, काॅलेज और औद्योगिक संस्थानों में आपदा से बचाव के तरीकों को माॅक ड्रिल की सहायता से समझाया जाता है।

पत्रकारों को संबोधित करते एनडीआरएफ डीजी ओपी सिंह।

X
सरकार जमीन दे, तो खुलेगा एनडीआरएफ का सेंटर : डीजी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..