पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • वर्षों क्लर्क पद पर रहे, अब करना होगा खलासी लाइनमैन का काम

वर्षों क्लर्क पद पर रहे, अब करना होगा खलासी-लाइनमैन का काम

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
झारखंडऊर्जा विकास निगम के अधीन वितरण, संचरण उत्पादन क्षेत्र में वर्षों से अस्थाई तौर पर क्लर्क एवं एकाउंटेंट पद पर काम कर रहे टेक्निकल कर्मचारियों को अब मूल पद पर भेजा जाएगा। यानी 10-15 वर्षों से ऑफिस में क्लर्क-एकाउंटेंट का काम कर रहे कर्मचारियों को अब फील्ड में खलासी-लाइनमैन का काम करना पड़ेगा। यह आदेश निगम प्रबंधन में जारी कर दिया है।

प्रबंधन ने स्पष्ट कर दिया है कि चूंकि लिपिक-एकाउंटेंट के पद वर्षो से रिक्त थे, इसलिए कर्मचारियों की कमी दूर करने के लिए टेक्निकल कर्मचारियों से अस्थाई व्यवस्था के तौर पर लिपिक-एकाउंटेंट का काम लिया जा रहा था। लेकिन लिपिक-एकाउंटेंट की नई नियुक्ति के बाद इन पदों पर कर्मचारियों का पदस्थापन किया जा चुका है। इसलिए दोनों पदों पर कार्यरत टेक्निकल कर्मचारियों को अपने-अपने मूल पद पर भेजा जाएगा। इस बाबत निगम के कार्मिक विभाग ने राज्य के सातों विद्युत एरिया बोर्ड रांची, हजारीबाग, धनबाद, जमशेदपुर, मेदिनीनगर, दुमका गिरिडीह के जीएम को निर्देश जारी कर दिया है। आदेश में ऐसे सभी तकनीकी कर्मियों को गैर तकनीकी कार्यों से रिलीज करने को कहा गया है।

एक तो निगम के तीन हजार से अधिक दैनिक वेतनभोगी दो माह से हड़ताल पर हैं, वहीं आउटसोर्सिंग एजेंसी मैन पावर उपलब्ध नहीं करा पा रही है। ऐसी स्थिति में बहुत हद तक लाइन मेंटेनेंस में सहूलियत होगी।

^जब मुख्यालय का आदेश हो गया, तो इस पर अमल किया जाएगा। जल्द ही सभी टेक्निकल कर्मचारियों को अपने-अपने मूल पद पर भेज दिया जाएगा। निश्चित ही इससे मेंटेनेंस में लाभ मिलेगा। -धनेशझा, जीएम, रांची एरिया बोर्ड

ऐसे कर्मचारियों से खलासी, लाइनमैन, एसबीओ (स्विच बोर्ड ऑपरेटर) स्किल्ड और नन स्किल्ड खलासी आदि पदों पर सेवा ली जाएगी। इससे फील्ड में कर्मचारियों की कमी का रोना रो रहे स्थानीय डिविजन सबस्टेशन को फायदा होगा।

खबरें और भी हैं...