पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • मदर ने सेवा को समर्पित जीवन वचन कार्य से पूरा किया : कार्डिनल

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मदर ने सेवा को समर्पित जीवन वचन कार्य से पूरा किया : कार्डिनल

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कार्डिनलतेलेस्फोर पी टोप्पो ने कहा कि जो प्रेम नहीं करता है, वह प्रभु या ईश्वर को नहीं जान सकता। क्योंकि, प्रेम ही ईश्वर है। मिशनरीज ऑफ चैरिटी की मदर टेरेसा ने प्रेम विश्वास की इस स्वीकृति को गरीबों, दुखियों, रोगियों, अनाथ नि:सहाय में बांटा। सेवा काे समर्पित जीवन वचन और कार्य से पूरा किया। उन्होंने भूखों के साथ अपनी रोटी बांटकर उपवास जैसे शब्द का सही अर्थ में लोगों के लिए प्रस्तुत किया। कार्डिनल टोप्पो सोमवार को ऑल सेंट्स चर्च डोरंडा में धन्य मदर टेरेसा को संत घोषित किए जाने पर धन्यवादी मिस्सा चढ़ाई।

उन्होंने कहा कि मदर टेरेसा गरीब, लाचार, अनाथ, रोगी और मरणासन्न लोगों की सेवा ख्रीस्त काे देखकर और उसके प्रेम का अनुभव कर किया। अपनी समर्पित सेवा में उन्होंने दीनहीन लाचार लोगों में करुणा, दया, प्रभु का प्रेम और अपनत्व बांटती रहीं। पोप फ्रांसिस द्वारा रोम में उन्हें संत घोषित किया जाना पूरी दुनिया के लिए उनकी समर्पित सेवाओं के आदर्श की प्रस्तुति करना है। यह बहुत बड़ा सम्मान है। आध्यात्मिक स्वीकृति दूसरों के लिए अनुकरणीय है।

मिस्सा में मिशनरीज ऑफ चैरिटीज डोरंडा के अलावा निर्मल हृदय जेल रोड, शिशु भवन हिनू, मिशनरीज ऑफ चैरिटी लेपर सेंटर एंड रिहैबिलिटेशन सेंटर राधारानी इटकी रोड, मिशनरीज ऑफ चैरिटी ब्रदर्स हरमू के सिस्टर्स ब्रदर्स, संत अन्ना, उर्सुलाइन, एससीजेएम सिस्टर्स, लॉरेटो सिस्टर्स आदि शामिल हुए। मिशनरीज ऑफ चैरिटी सिस्टर ने मदर टेरेसा की जीवनी पर प्रकाश डाला, जिसमें उन्होंने स्कोप्जे में उनके जन्म से लेकर पांच सितंबर 1997 में कोलकाता में मृत्यु , कलकता में मिशनरीज ऑफ चैरिटी की स्थापना, डोरंडा में मिशनरीज ऑफ चैरिटी की स्थापना की जानकारी दी।

समारोही मिस्सा में कार्डिनल टोप्पो के साथ फादर जस्टिन तिर्की और फादर हेनरी बारला सह अनुष्ठाता रहे। मिस्सा के सहयोगी पुरोहितों में फादर स्तानिसलास रुंडा, फादर ब्रिसियुस, फादर इग्नस, फादर अग्नेलो, फादर बिपिन, फादर रंजीत, फादर एफ्रेम, फादर अंजलुस एक्का, फादर अलेक्स आदि शामिल थे। कार्डिनल ने कहा कि हम सबों को भी संत टेरेसा के आदर्शों पर चलकर दीन-दुखियों की सेवा में हाथ बढ़ाने की जरूरत है। मदर टेरेसा ने क्रूसित येसु वाक्य मैं प्यासा हूं से प्रेरित होकर दीन-दुखियों, अनाथ रोगियों की सेवा में आई।

संत टेरेसा की तस्वीर पर माल्यार्पण करते कार्डिनल मिस्सा के लिए मिशनरीज ऑफ चैरिटी हाउस से फोटो ले जातीं एमसी सिस्टर्स।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

    और पढ़ें