पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • उपवास और ध्यान से टूटेगा कर्म का बंधन : शीतल सागर

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उपवास और ध्यान से टूटेगा कर्म का बंधन : शीतल सागर

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जैनमुनिआचार्य शीतल सागर महाराज ने कहा कि इच्छाओं का निरोध करना ही वास्तविक तप-धर्म है। तप करने का उद्देश्य कर्म निर्जरा है। अनादिकाल से आत्मा जिन कर्म बंधनों से बंधा है, उन कर्म बंधनों को अनशन, उपवास और ध्यान जैसे तप से ही तोड़ा जा सकता है। जैनमुनि ने पर्यूषण पर्व के सातवें दिन सोमवार को उत्तम तप धर्म पर प्रवचन दिया।

जैन मंदिर सभागार में प्रवचन करते हुए शीतल सागर महाराज ने कहा कि जिस तरह दूध को तपाने के लिए पहले पात्र को तपाना होता है, ठीक उसी तरह आत्मा के तपश्चरण के लिए शरीर को तपाना पड़ता है। तपश्चरण में शरीर को कपट दिया जाता है, लेकिन हमारा उद्देश्य शरीर को कपट देना नहीं है। तपश्चरण का उद्देश्य आत्मा को शुद्ध बनाता है। उन्होंने कहा कि जिस तरह दूध से निकले नवनीत को मथ कर और तपाकर जब एक बार घृत विकाल लिया जाता है, तो पुन: उसी घी को दूध में मिलाया नहीं जा सकता। उसी प्रकार जब एक बार आत्मा का मिलन परमात्मा में हो जाता है तो परमात्मा पुन: कभी संसारी आत्मा बनकर जन्म और मृत्यु के दुखों को नहीं उठाती।

इससे पहले सोमवार की सुबह जैनियों ने मंत्रोच्चार के साथ दोनों मंदिरों में भगवान जिनेंद्रदेव का सामूहिक जलाभिषेक किया। दशलक्षण पर्व पर अभिषेक और शांतिधारा के बाद जैन समाज के लोगों ने महाराज के सानिध्य में सामूहिक पूजा-अर्चना की। उसके बाद पंडित पंकज कुमार शास्त्री के सानिध्य में सामूहिक पूजन और दशलक्षण मंडल का विधान हुआ। विधि-विधान के साथ पारंपरिक वेशभूषा में मौजूद श्रद्धालुओं ने मंदिर में सरस्वती पूजन और भोपाल से आए पंडित पंकज कुमार शास्त्री ने ग्रंथराज तत्वार्थ की विवेचन की।

मीडिया प्रभारी सुरेश कासलीवाल ने बताया कि पर्यूषण पर्व के अगले तीन दिनों उत्तम त्याग, उत्तम अंकिंच्य और उत्तम ब्रह्मचर्य पर शास्त्र प्रवचन होगा।

भगवान जिनेंद्रदेव का सामूहिक जलाभिषेक के बाद महिलाओं ने की पूजा-अर्चना।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें