• Hindi News
  • National
  • याज्ञवल्क्य शुक्ल और हरीश ने लिखी थी जीत की पटकथा

याज्ञवल्क्य शुक्ल और हरीश ने लिखी थी जीत की पटकथा

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मांदर की थाप पर लगे थिरकने

पांचों पदों पर एबीवीपी-छात्र आजसू की जीत

रांची | रांचीयूनिवर्सिटी के कॉलेज स्तर पर हुए छात्र संघ चुनाव में किसी भी एक छात्र संगठन के पास स्पष्ट बहुमत नहीं था। संख्या बल में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सबसे आगे था। इसके समर्थित कुल 39 प्रत्याशी चुनाव जीते थे। वहीं आजसू समर्थित 14 प्रत्याशी चुनाव जीते थे। आदिवासी छात्र संघ (एसीएस) और झारखंड छात्र मोर्चा (जेसीएम) समर्थित 37 प्रत्याशी चुनाव जीते थे। ऐसे में एबीवीपी के लिए अपने दम पर पांचों पदों को जीतना मुश्किल था। वहीं एसीएस को जेसीएम आजसू के जीते हुए प्रत्याशियों का समर्थन चाहिए था, लेकिन छात्र आजसू जेसीएम के साथ नहीं जा सकता था, क्योंकि वहां विधायक अमित महतो छात्र संघ चुनाव में पर्दे के पीछे से अपनी भूमिका का निर्वहन कर रहे थे। यानी स्पष्ट था कि छात्र आजसू के बिना कोई भी दल पांचों पदों पर कब्जा नहीं कर सकता था। बड़ा दल होने के कारण एबीवीपी की ओर से पहल हुई। सूत्रधार प्रदेश संगठन मंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल ने छात्र आजसू की कमान संभाल रहे हरीश कुमार से बात की। 16 दिसंबर को बात सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ी। 17 दिसंबर को दोनों ने फोन की जगह बैठकर बातें करना मुनासिब समझा। एबीवीपी एक पद देना चाहता था, लेकिन छात्र आजसू दो पद के लिए अड़ा था। अंतत: एबीवीपी ने सेक्रेट्री डिप्टी सेक्रेट्री का पद छात्र आजसू को दे दिया। गौरतलब है कि कॉलेज स्तर पर चुनाव के दौरान दोनों संगठनों के बीच कई बार झड़प और मारपीट भी हुई थी।

वॉलीबॉल ग्राउंड में दिन के तीन बजे निर्वाचित पदाधिकारियों को पद गोपनीयता की शपथ वीसी डॉ. रमेश कुमार पांडेय ने दिलाई।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की जीत पर भाजपा कार्यालय में मनाया जश्न।

चुनाव परिणाम की घोषणा के बाद से लगातार एबीवीपी और छात्र आजसू के समर्थक मांदर की थाप पर झूम रहे थे। इसी शान के साथ वे विजेताओं को साथ लेकर दिन के तीन बजे वॉलीबॉल ग्राउंड में शपथ लेने पहुंचे। वहां ग्राउंड में कुर्सियां लगी हुई थीं। इस दौरान जोश, उत्साह, खुशी से लबरेज कार्यकर्ता खूब नारे लगा रहे थे। भारत माता की जय, वंदे मातरम, जय झारखंड, बिरसा मुंडा अमर रहे के नारे लग रहे थे। शपथ ग्रहण के दौरान वाइस प्रेसिडेंट पूजा सिंह भावुक हो गईं। जिस कारण उनकी आवाज स्पष्ट सुनाई नहीं दे रही थी। वहीं डिप्टी सेक्रेट्री मनोज कच्छप के शपथ के तरीके पर खूब तालियां बजीं।

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने छात्र संघ चुनाव में विद्यार्थी परिषद की जीत पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि राज्य के पांचों विवि में एबीवीपी की जीत ने बता दिया है कि राज्य का युवा वर्ग किसके साथ है और क्या चाहता है। एबीवीपी युवा वर्ग का विश्वास जीतने में सफल रहा। उधर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा है कि राज्य के पांच विश्वविद्यालयों में हुए छात्र संघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। इससे विश्वविद्यालयों में राष्ट्रवादी और सांस्कृतिक विचारधारा को मजबूती मिली है। युवा शक्ति इसके लिए बधाई के पात्र हैं। वहीं प्रदेश महामंत्री दीपक प्रकाश ने कहा कि आजसू पार्टी छात्र इकाई भी धन्यवाद का पात्र है, जिसने विरोधियों के सारे कुचक्र को नाकाम कर दिया। विद्यार्थी परिषद की जीत पर हेमलाल मुर्मू, विद्युतवरण महतो, उषा पांडेय, सत्येंद्रनाथ तिवारी, समीर उरांव, आदित्य साहू, प्रिया सिंह, महामंत्री सुनील कुमार सिंह, अनंत ओझा, मंत्री नवीन जयसवाल, घूरन राम, मुनेश्वर साहू, मनोज सिंह, सुबोध सिंह गुडडू, नूतन तिवारी, गणेश मिश्र, हेमंत दास, जेबी तुबीद, राजेश कुमार शुक्ला, सरिता श्रीवास्तव, दीनदयाल वर्णवाल, प्रतुल शाहदेव, प्रवीण प्रभाकर आदि ने बधाई दी है।

रांची यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव में जीते हुए प्रतिनिधियों के शपथ ग्रहण के बाद वीसी डॉ. रमेश कुमार पांडेय ने चुनाव में हारे और जीते हुए सभी प्रत्याशियों को बधाई दी। कहा कि सुख-दुख की तरह ही जीवन हार-जीत का अहम हिस्सा है। उन्होंने कहा कि जिंदगी बड़ी अजीब होती है, कभी हार तो कभी जीत मिलती रहती है। उन्होंने कहा कि छात्र संघ का कार्यालय शीघ्र ही उपलब्ध करा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव कराने में डीएसडब्ल्यू डॉ. एससी गुप्ता के नेतृत्व में गठित टीम ने सराहनीय कार्य किया। मौके पर सीसीडीसी डॉ. पीके सिंह, रजिस्ट्रार डॉ. अमर कुमार चौधरी, प्राॅक्टर डॉ. दिवाकर मिंज, परीक्षा नियंत्रक डॉ. आशीष कुमार झा, एफओ डॉ. प्रीतम कुमार, एआर राजीव कुमार सिंह, डॉ. गौरी शंकर तिवारी समेत अन्य मौजूद थे। संचालन डॉ. बीके सिन्हा ने किया।

रांची विवि में शिक्षकों की कमी के कारण पढ़ाई प्रभावित हो रही है। छात्राओं के लिए कॉमन रूम सुरक्षा पर ध्यान दिया जाएगा। समय पर स्कॉलरशिप और टीआरएल की बिल्डिंग बनाने का प्रयास करूंगा।

परिचय: अभीपीएचडी का छात्र। बेड़ो प्रखंड के पुखरा पंचायत के दादुपुरा पिता भोजा उरांव पूर्व मुखिया रहे हैं। वहीं मां जयंती देवी गृहिणी हैं। अभी टीआरएल में क्लास भी लेते हैं। नेट जेआरएफ क्वालिफाई हैं। स्नातक में आरयू के गोल्ड मेडलिस्ट रहे हैं।

आरयू के सभी कॉलेज कैंपस को दलाल मुक्त कराना हमारी प्राथमिकता है। समय पर परीक्षा, परिणाम प्लेसमेंट अनिवार्य होगा। दूर से आनेवाली छात्राओं के लिए बस की सुविधा, लाइब्रेरी में नई किताबें स्वच्छ परिसर पर हमारा फोकस होगा। समय कम है, इसलिए काम तेजी से करना होगा।

परिचय: आरएलएसवाईकॉलेज में स्नातक पार्ट टू का छात्र। ओरमांझी के कुकुई का निवासी पिता पन्नालाल महतो किसान हैं, जबकि मां शामो देवी गृहिणी।

छात्रों की समस्याओं के निराकरण के लिए पहले से ही संघर्ष कर रहा था। लेकिन अब अधिकार के साथ दायित्व भी बढ़ गया है। शक्ति मिली है तो छात्रों की समस्याएं दूर करूंगा। आजसू-अभाविप दोनों टीम वर्क के साथ काम करेंगे। शिक्षकों की कमी दूर कराएंगे। कैंपस की सुरक्षा बेसिक सुविधाओं पर फोकस करूंगा। सिस्टम में खामियां हैं, इसे सुधारेंगे। सिंगल विंडो सिस्टम लागू कराएंगे।

परिचय: मारवाड़ीकॉलेज के एमबीए के छात्र। पिता विक्रम सिंह झारखंड पुलिस से सेवानिवृत्त हैं। मां नीलम देवी गृहिणी हैं।

छात्राओं की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। वीमेंस कॉलेज में महिला कांस्टेबल की प्रतिनियुक्ति होनी चाहिए। इसी तरह सभी कॉलेजों में महिला छात्रावास, बस की सुविधा हो। साफ-सुथरे वॉशरूम केवल शिक्षिकाओं के लिए होता है। इसे छात्राओं के लिए उपलब्ध कराऊंगी। कैंपस स्वच्छ होगा। शिक्षकों की कमी को पूरा कराऊंगी।

परिचय: रांचीवीमेंस कॉलेज में एमकॉम फर्स्ट सेमेस्टर की छात्रा। पिता अवधकिशोर सिंह पशुपालन विभाग में डॉक्टर हैं। मां मंजू देवी हाउस वाइफ हैं।

चुनाव लड़ने से पहले जो मेनिफेस्टो घोषित किया गया था, उसे प्राथमिकता के आधार पर लागू कराने प्रयास किया जाएगा। हमारे पास काम करने के लिए सिर्फ छह माह बचे हैं। सभी कॉलेजों में पुलिस पिकेट की स्थापना ड्रेस-कोड लागू कराना, पेयजल, शौचालय समेत अन्य बेसिक सुविधाएं उपलब्ध कराना प्राथमिकता होगी। छात्रों का हर कॉल गंभीरता से लूंगा।

परिचय: केसीबीकॉलेज, बेड़ो में स्नातक पार्ट-वन अंग्रेजी ऑनर्स का छात्र। पिता गड्डे बड़ाइक बेड़ो में होटल में काम करते हैं। माता तिलो देवी का निधन हो चुका है।

चुनाव में बुधवार को मतगणना के दौरान 28 वोट बेकार साबित हुए। इनमें 15 वोट नोट पर पड़े थे। यानी इससे स्पष्ट था कि ऐसे वोटर किसी भी प्रत्याशी को पसंद नहीं करते हैं। वहीं 13 वोटरों के बैलेट पेपर को रिजेक्ट कर दिया गया। इसमें कुछ वोटरों ने प्रत्याशी को वोट देने की जगह बैलेट पेपर पर कमेंट लिख दिए थे। हालांकि इसका खुलासा नहीं हो सका। परिणाम की घोषणा करते हुए डॉ. संजय मिश्रा ने कहा कि कमेंट में क्या लिखा है, यह बताया नहीं जा सकता है। वहीं कुछ वोटरों ने बैलेट पेपर पर एक से अधिक सही के निशान लगा दिए थे। इस कारण वोट रिजेक्ट हो गए।

रांची यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव में जीत के बाद समर्थकों के साथ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और छात्र आजसू के पदािधकारी।

नाम कॉलेज वोट

प्रेसिडेंट

पवनबड़ाईक केसीबी, बेड़ो 51

सुभाष उरांव रांची कॉलेज 20

नीरज मिंज केओ कॉलेज 10

दीपशिखा उरांव वीमेंस कॉलेज 03

संतोष उरांव रांची कॉलेज 02

वाइसप्रेसिडेंट

पूजाकुमारी वीमेंस कॉलेज 50

मीनू मुंडा रांची कॉलेज 30

सेक्रेट्री

नीतीशसिंह मारवाड़ी कॉलेज 53

दिनेश कुमार मुर्मू पीजी विभाग 29

संगीता कंडूलना बिरसा कॉलेज 03

धर्मबीर सिंह जेएन कॉलेज 02

ज्वाइंट सेक्रेट्री

राजकिशोर महतो आरएलएसवाई 49

मनोज बारला बिरसा कॉलेज 33

डिप्टीसेक्रेट्री

मनोजकच्छप पीजी विभाग 54

अंजना टेटे बिरसा कॉलेज 20

पूनम कच्छप केओ कॉलेज 10

विजय प्रकाश डोरंडा कॉलेज 02

खबरें और भी हैं...