छात्र बोले-रिपोर्ट बताती है कॉलेज में आग नहीं, फिर भी रची गई शिफ्टिंग की साजिश

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भगतडीह (झरिया). झरिया के आरएसपी कॉलेज के कैंपस में आग नहीं है। इसके बावजूद कॉलेज को शिफ्ट करने का आदेश दिया गया है। ये बातों कॉलेज छात्र संघ के नेताओं ने शुक्रवार को कहीं। कॉलेज की शिफ्टिंग के आदेश के खिलाफ स्थानीय विकास भवन के सामने वे लगातार चौथे दिन अनशन डटे रहे।        
 
उन्होंने बीसीसीएल की ओर से शुक्रवार को उपलब्ध कराई गई सिंफर और डीजीएमएस की रिपोर्ट का हवाला देते हुए दोहराया कि बीसीसीएल सिर्फ अपने फायदे के लिए कॉलेज को शिफ्ट करने पर अड़ी हुई है, लेकिन उसकी साजिश को सफल नहीं होने दिया जाएगा। रिपोर्ट के बारे में छात्र नेताओं ने कहा कि इसमें बताया गया है कि कॉलेज परिसर में बने बोर होल नंबर 11, 12, 13 और 14 में आग नहीं है। आग कॉलेज कैंपस के बाहरी हिस्से में बोर होल नंबर 8 ए, 8 बी, 9 ए और 9 बी में है, जो प्रेम नगर में बनाए गए थे।
 
छात्र नेताओं ने कहा कि रिपोर्ट से पता चलता है कि ईमानदारी से प्रयास करने पर अब भी कॉलेज बच सकता है। इधर, इस बारे में डीजीएमएस के डिप्टी डायरेक्टर संजीवन रॉय ने कहा कि रिपोर्ट इसी साल अप्रैल की है। इसमें कहा गया है कि आग कॉलेज के बाहर, लेकिन काफी करीब है। इसीलिए कॉलेज को  शिफ्ट करने की सलाह दी गई। आग जब कॉलेज में पहुंच ही जाएगी, तब शिफ्ट करने के लिए कुछ बचेगा ही नहीं, सब खत्म हो जाएगा।
 
उग्र छात्रों ने क्षेत्रीय कार्यालय में जड़ दिया ताला
 
दरअसल, अनशन के चौथे दिन अनशनकारी और उनके समर्थक छात्र उग्र हो गए। उन्होंने बस्ताकोला क्षेत्रीय कार्यालय के मेन गेट पर ताला जड़ दिया। कई अफसरों को अंदर ही बंद कर दिया, जबकि बाहर से कोई अंदर नहीं जा पा रहा था। स्थिति बिगड़ने पर प्रबंधन ने बड़ी संख्या में सीआईएसएफ के जवानों को बुला लिया। देखते-देखते बस्ताकोला क्षेत्रीय कार्यालय पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। राजापुर के परियोजना पदाधिकारी विंध्याचल सिंह भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने छात्र नेताओं अभिषेक सिंह, विक्रम सिंह, बप्पी बाउरी आदि से बातचीत की। फिर सिंफर और डीजीएमएस की रिपोर्ट की कॉपी उन्हें सौंप दी।
 
रिपोर्ट पर भरोसा नहीं, शनिवार को साफ करेंगे रुख
 
रिपोर्ट की कॉपी मिलने के बाद भी छात्र नेताओं का अनशन जारी रहा। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट 13 अक्टूबर 2016 की है और उस पर उन्हें ज्यादा भरोसा नहीं है। विशेषज्ञों से सलाह-मशविरा करने के बाद रिपोर्ट पर अपना रुख वे शनिवार को साफ करेंगे। इस बीच अनशन में विभिन्न दलों के नेता समर्थन करने पहुंचे।
 
अनशनकारियों की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल जाने को तैयार नहीं: इधर, अनशन पर बैठे छात्र संघ के अध्यक्ष विक्रम सिंह और मनोज यादव की तबीयत शुक्रवार को बिगड़ गई। डॉक्टरों ने उनकी जांच की और पीएमसीएच में भर्ती कराने को कहा। सीओ ने भी कोशिश की, लेकिन छात्र नेता अनशन पर डटे रहे।
 
डीजीएमएस के डिप्टी डायरेक्टर संजीवन रॉय ने बताया कि आरएसपी कॉलेज के काफी करीब प्रेमनगर इलाके में बोर होल में आग है। वह आरएसपी कॉलेज की ओर बढ़ रही है। कॉलेज में आग के पहुंचने और वहां कोई हादसा होने का इंतजार नहीं कर सकते। इसलिए कॉलेज को खाली करना ही होगा।
 
खबरें और भी हैं...