• Hindi News
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • News
  • लरका आंदोलन के प्रणेता अमर शहीद वीर बुधू भगत की जयंती
--Advertisement--

184 साल पहले इस शहीद के छेड़े आंदोलन के कारण भूमि सुरक्षा एक्ट बनाया गया

कोल विद्रोह के नायक शहीद वीर बुधु भगत अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई में शहीद हुए थे

Dainik Bhaskar

Feb 18, 2016, 01:03 AM IST
कोल विद्रोह के नायक शहीद वीर बुधु भगत। कोल विद्रोह के नायक शहीद वीर बुधु भगत।

रांची. लरका आंदोलन के प्रणेता अमर शहीद वीर बुधू भगत को लोगों ने बुधवार को नमन किया। उनकी 225वीं जयंती पर मैना बगीचा में आयोजित जयंती सह जतरा समारोह में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। कौन थे बूधू भगत...

-बुधू भागत का जन्म रांची जिला के सिलागाई गांव में 17 फरवरी 1792 को हुआ था।

-अमर शहीद वीर बूधु भगत, इनके दो बेटों हलधर-गिरधर भगत, बहन रूनिया-झुनियां और सात आंदोलनकारियों ने अंग्रेज सेना को परेशान कर रखा था।

-अंग्रेज सेना कड़ी मशक्कत के बाद सातों आंदोलनकारियों को पकड़ने में कामयाब हुई थी।

-कोल विद्रोह के नायक शहीद वीर बुधु भगत अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई में शहीद हुए थे।

-कहा जाता है कि उन्हें दैवीय शक्तियां प्राप्त थी, जिसके प्रतीकस्वरूप एक कुल्हाड़ी वह हमेश अपने साथ रखते थे।
-1831-32 में हुए कोल विद्रोह के हीरो बूधू भगत का आमलोगों पर जबर्दस्त असर था।
-लोग उनके एक इशारे पर अपनी जान तक कुर्बान कर देने के लिए तैयार रहते थे।

क्या हुआ था 2 फरवरी 1832...

-लरका आंदोलन के लीडरों ने अंग्रेजों को परेशान कर दिया था।

-एक फरवरी 1832 की रात को सातों आंदोलनकारी टिको पोखराटोली से सटे बगीचा में रणनीति बना रहे थे।

-रात में अंगरेजी सेना ने सातों को धर-दबोचा।

-दो फरवरी को टिको पोखराटोली के समीप स्थित जोड़ाबर में सातों को बरगद के दो पेड़ों से रस्सी में बांध कर गला काटकर हत्या कर दी गई थी।

योगदान
कोल आंदोलन के जननेता शहीद बुधु भगत अंग्रेजों के चापलूस जमींदारों, दलालों के खिलाफ भूमि, वन की सुरक्षा के लिए जंग छेड़ी थी।
आंदोलन में भारी संख्या में अंग्रेज सेना तथा आंदोलनकारी मारे गये थे। आंदोलन के कारण भूमि सुरक्षा के लिए सीएनटी एक्ट बनाया गया।
आगे की स्लाइड्स में देखें शहीद बूधू भगत की और फोटोज...
दो फरवरी को टिको पोखराटोली के पास वीर बुधु भगत की गला काटकर हत्या कर दी गई थी। दो फरवरी को टिको पोखराटोली के पास वीर बुधु भगत की गला काटकर हत्या कर दी गई थी।
एक स्कूल कैंपस में लगी शहीद वीर बुधु भगत की मूर्ति। एक स्कूल कैंपस में लगी शहीद वीर बुधु भगत की मूर्ति।
अमर शहीद वीर बुधू भगत को लोगों ने उनकी 225वीं जयंती पर नमन किया। अमर शहीद वीर बुधू भगत को लोगों ने उनकी 225वीं जयंती पर नमन किया।
X
कोल विद्रोह के नायक शहीद वीर बुधु भगत।कोल विद्रोह के नायक शहीद वीर बुधु भगत।
दो फरवरी को टिको पोखराटोली के पास वीर बुधु भगत की गला काटकर हत्या कर दी गई थी।दो फरवरी को टिको पोखराटोली के पास वीर बुधु भगत की गला काटकर हत्या कर दी गई थी।
एक स्कूल कैंपस में लगी शहीद वीर बुधु भगत की मूर्ति।एक स्कूल कैंपस में लगी शहीद वीर बुधु भगत की मूर्ति।
अमर शहीद वीर बुधू भगत को लोगों ने उनकी 225वीं जयंती पर नमन किया।अमर शहीद वीर बुधू भगत को लोगों ने उनकी 225वीं जयंती पर नमन किया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..