पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • शिक्षकों की समस्या के समाधान की बात करनेवाले को ही सहयोग : संघ

शिक्षकों की समस्या के समाधान की बात करनेवाले को ही सहयोग : संघ

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राज्यके पारा शिक्षकों और प्राथमिक शिक्षकों ने घोषणा की है कि जो पार्टी विधानसभा चुनाव में शिक्षकों की समस्याओं के समाधान की बात करेगी, उसी को सहयोग करेंगे। बुधवार को झारखंड राज्य सहयोगी पारा शिक्षक संघ और अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ ने इसकी घोषणा की। गौरतलब है कि राज्य में 84 हजार पारा शिक्षक और करीब 45 हजार सरकारी प्राथमिक शिक्षक हैं।

पारा शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष बिनोद तिवारी और प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश महासचिव राममूर्ति ठाकुर ने कहा है कि पिछली जितनी भी सरकारें आईं, किसी ने शिक्षकों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया। सभी ने सिर्फ शिक्षकों को आश्वासन देकर ठगने का काम किया है। इस बार जो पार्टी उनकी समस्याओं के समाधान पर विचार करेगी वे उसी के प्रति नर्मी दिखाएंगे।

{पारा शिक्षकों के स्थायीकरण का नहीं निकला समाधान।

{पारा शिक्षकों के मानदेय में सम्मानजनक वृद्धि नहीं हो सकी।

{2012 में 63 दिनों की हड़ताल का मानदेय आज तक नहीं मिला।

{पात्रता परीक्षा पास प्रशिक्षित पारा शिक्षकों का समायोजन अनिर्णित।

पारा टीचर्स की समस्या

{14 हजार उच्च योग्यताधारी शिक्षकों को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी सरकार नहीं दे सकी प्रोन्नति।

{कैबिनेट से स्वीकृत फिटमेंट टेबल का लाभ शिक्षकों को नहीं मिला।

{राज्य के मध्य विद्यालयों में खाली प्रधानाध्यापकों के पदों को शिक्षकों को प्रोन्नति देकर नहीं भरा जा सका।

{राज्य के 22 जिलों में प्राथमिक स्कूलों में नए शिक्षकों की नियुक्ति नहीं हो सकी।

ये समस्याएं गिनाईं