पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • एन सिंह आशीष कपूर ने दर्ज की जीत

एन सिंह आशीष कपूर ने दर्ज की जीत

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
15वीं ऑल इंडिया पुलिस लॉन टेनिस चैंपियनशिप की सांस्कृतिक संध्या पर गुलाम अली की गजलों पर झूमा शहर

फासले ऐसे भी होंगे ये कभी सोचा था...

खेलगांवकॉम्पलेक्स में चल रहे 15वें ऑल इंडिया पुलिस लॉन टेनिस चैंपियनशिप में शुक्रवार को ओपन डबल्स, ओपन सिंगल और मेन वेटरन सिंगल्स के मैच खेले गए। पंजाब के आशीष कपूर ने लगातार सातवीं बार सिंगल्स में जीत दर्ज की। वहीं, इसी सेट में आईटीबीपी के एन सिंह ने भी रोमांचक जीत अपने नाम किया।

ओपन डबल्स में सीआरपीएफ के एसके मिश्रा-पी त्रिपाठी ने छत्तीसगढ़ के आरजी गर्ग-दिल्ली के बीएल सुरेश को हरा विजेता बने। इसके अलावा पंजाब के आशीष कपूर-सीआरपीएफ के केंजोम नागोमदिर ने पश्चिम बंगाल के अनिल कुमार-त्रिपुरारी को मात दी। अगले मैच में आईटीबीपी के राजेश शर्मा-जसपाल सिंह ने ओड़िशा के एम प्रताप-दयाल गंगाधर को पर जीत दर्ज की। इसके अलावा असम के आरके बहुरा-सिमनाथ को बीएसएफ के वी. भारद्वाज-सुरेश कुमार के हाथों हार का सामना करना पड़ा। वहीं, बीएसएफ के एसएस राणा-हिमाचल प्रदेश के रमेश चज्जाता ने मध्य प्रदेश के विजय खत्री-राजेश गुप्ता को शानदार मुकाबले में हार का मुंह दिखाया।

जैप ग्राउंड में आयोजित सांस्कृितक संध्या में गजल प्रस्तुत करते सुप्रसिद्ध गजल गायक गुंलाम अली टीम।

वेटरन के विजेता

मैनवेटरन सिंगल्स में आंध्र प्रदेश के प्रभु कुमार को एसके तोमर ने 7-1 से, एसएसबी के ज्ञानचंद ने तेलंगाना के एएन बाजी को 7-1 से हराया। आंध्र प्रदेश के वी सत्तूराजू ने डी सत्यनारायण को 7-1 से, बीएसएफ के डीपी सिंह ने सीआरपीएफ के श्यामचंद को 7-3 से मात दी। कर्नाटक के एस कृष्णामूर्ति को सीआरपीएफ के सतपाल रावल ने 7-1 से, एनएसजी के मोनीचंद को गुजरात के वीके मल ने 6-3 से हराया।

सिंगल्स में इन्होंने मारी बाजी

ओपनसिंगल्स के पहले मैच में एमपी के अतुल सिंह ने एनएसजी के एम शाहिदी को 7-0 से हराया। आईटीबीपी के एन सिंह ने एनएसजी डी वर्मा को सीधे सेटों में 7-4 से हराया। हिमाचल प्रदेश के शमशेर सिंह ने सीबीआई के पंकज सिंह को 7-4 से हराया। पश्चिम बंगाल के अनिल कुमार ने एसएसबी के दीपक सिंह को 7-0 से, बीएसएफ के विक्रम सिंह ने हिमाचल प्रदेश के रमेश को 7-1 से, बीएसएफ के विक्रम ने बीएसएफ के ही सुरेश कुमार को 4-3 से, झारखंड के मनोज कौशिक को तेलंगाना के सीके स्वामय ने 6-4 से, सीआरपीएफ के केंजोम नागोमदिर ने बीएसएफ के एसएस राणा को 7-3 से, तेलंगाना के बालाकृष्णा रॉय को सीआरपीएफ के एसके मिश्रा ने 7-2 से पंजाब के आशीष कपूर ने सीबीआई के राज शेखर को 6-0 के सेट से हराया।

चुपके चुपके रात दिन आंसू बहाना याद है...

गुलाम अली मंच पर आए, तो उनकी गजलों के दीवानों ने खड़े होकर जोरदार तालियों से उनका स्वागत किया। उन्होंने भी बड़ी ही शालीनता के साथ सभी का अभिवादन किया। गजलों का गुलदस्ता सजाने की शुरूआत करने से पहले उन्होंने अपने ज़माने के कई महान फनकारों को याद किया। इसके बाद उन्होंने ...चुपके चुपके रात दिन आंसू बहाना याद है, हमको अब तक आशिकी का वो जमाना याद है... और दिल में एक लहर सी उठी है अभी, गजल पेश किए।

डीबी स्टार >रांची

फासलेऐसे भी होंगे ये कभी सोचा ना था सामने बैठा था मेरे और वो मेरा ना था... इस गजल से सरहद पार से आए उस्ताद गुलाम अली ने अपनी पुरकशिश आवाज में जैसे ही गुनगुनाना शुरू किया, तो रूमानियत भरा यह अहसास श्रोताओं के दिलों को छू गया। मौका था 15वीं राष्ट्रीय पुलिस लान टेनिस प्रतियोगिता के तीसरे और आखिरी दिन की सांस्कृतिक संध्या का। जैप परिसर में सजी इस महफिल में हारमोनियम पर मचलती गुलाम अली की अंगुलियों के साथ उनके गले से निकलती सुरीली गजलों ने रांचीआइट्स को मुग्ध कर दिया। उन्होंने खास फरमाइश पर जब राग दरबारी में अकबर इलाहाबादी की गजल हंगामा है क्यूं बरपा थोड़ी-सी जो पी ली है... को पेश किया, तो श्रोता झुम उठे। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस वीरेंद्र सिंह, जस्टिस पी पी भट्ट, मुख्य सचिव राजीव गौवा, डीजीपी डी के पाण्डेय उपस्थित थे।

अलीने भी बांधा समा

गुलामअली के पहले उनके शागिर्द नईम अली ने अपनी गजलें पेश की ..हम साथ चल रहे हैं कुछ लोग जल रहे हैं। अगली गजल उन्होंने गुलाम अली की ही पेश की। उनकी पेश गजल नजर नजर से मिलाओ बहार के दिन हैं गमों को भूल जाओ बहार के दिन हैं को लोगों ने काफी सराहा।