लैंड फील एरिया नहीं बना तो शहर होगा कचरा

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची. राजधानी से निकलने वाले कचरा को फिलहाल झिरी स्थित लैंड फील एरिया में डंप किया जा रहा है। यहां पर निगम की 40 एकड़ जमीन पर कचरा डंप किया जा रहा है। इस जमीन पर सॉलिड वेस्ट प्लांट भी बैठाना था। लेकिन एटूजेड कंपनी के फेल होने के बाद यह प्रस्ताव ठंडे बस्ते में चला गया है। झिरी का लैंड फील एरिया पूरी तरह कचरे से भर गया है। इसे देखते हुए राजधानी का मास्टर प्लान बनाने वाली कंपनी फीडबैक ने अगले 25 वर्षों की आबादी को ध्यान में रखते हुए शहर के बाहर एक और लैंड फील एरिया बनाने का सुझाव दिया है। कंपनी ने रिंग रोड के किनारे बालसिरिंग में लैंड फील एरिया बनाने के लिए लगभग 220 एकड़ जमीन चिह्नित की है। लैंड फील एरिया बनाने के लिए सरकार को उक्त जमीन का अधिग्रहण करना होगा। यदि अगले पांच वर्षों में लैंड फील एरिया डेवलप नहीं किया जाता है, तो पूरा शहर कचरे से भर जाएगा।

इसलिए दिया प्रस्ताव : बालसिरिंग गांव रिंग रोड से सटा है। यहां तक कचरा वाहनों को पहुंचने में मुश्किल नहीं होगी। कंपनी ने उक्त स्थल पर फेसिंग, वे-ब्रिज, कचरा डिस्पोजल के बाद वेस्ट वाटर की निकासी और गैस रखरखाव के इक्विपमेंट्स आदि की सुविधा देने का प्रस्ताव दिया है। कंपनी ने बताया है कि आने वाले समय में झिरी का क्षेत्र भी हाई डेंसिटी एरिया में शामिल हो जाएगा।