• Hindi News
  • Comrade Mahendra Singh Martyrdom Day Celebrated

PIX : जननायक था यह कॉमरेड, शहादत के सालों बाद भी उमड पड़ता है जनसैलाब!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची/बगोदर। पूरा झारखंड कॉमरेड महेंद्र सिंह की शहादत की याद में सामंतवादी जुल्म के खिलाफ संघर्ष का संकल्प ले रहा है। झारखंड के आधुनिक जननायकों में शहीद महेंद्र सिंह का नाम बड़े ही सम्मान के साथ लिया जाता है। लोकतंत्र के दुश्मनों ने जननायक और विचार क्रांति के योद्धा पूर्व विधायक महेंद्र प्रसाद सिंह के शरीर को आज 8 साल पहले 16 जनवरी 2005 को सरिया थाना क्षेत्र के दुर्गी-धवैया गांव में गोलियों से छलनी कर दिया था। स्व. सिंह 2005 के विधानसभा चुनाव के सिलसिले में दुर्गी-धवैया में जनसभा सह चुनावी सभा को संबोधित करने गए थे। उनकी हत्या की सीबीआई जांच अभी भी चल रही है।

महेंद्र सिंह वह शख्स थे जिनका लोहा राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव भी मानते थे। बगोदर के सुदूर गांव खंभरा से रूढि़वादी और सामंतवादी शक्तियों के खिलाफ राजनीति की शुरुआत करने वाले स्व. सिंह की अंतिम विदाई तक का सफर संघर्षों से भरा रहा। संघर्ष के बल पर बगोदर को उन्होंने न सिर्फ ऊंचाई यों तक पहुंचाया बल्कि सर्वहारा वर्ग की आवाज को बिहार-झारखंड में बुलंद किया। स्व. सिंह ने अपने राजनीतिक जीवन में समाज के लिए कई आयाम गढ़े। पुलिस जुल्म, भ्रष्टाचार और दुराचार के खिलाफ वक्त की जरूरतों के मुताबिक स्व. सिंह ने कार्रवाईयों को अंजाम तक पहुंचाया। विकास के मॉडल भी बगोदर में चुने और गढ़े। अपने दूरदर्शी व्यक्तित्व के लिए भी महेंद्र सिंह आम लोगों पर अमिट छाप छोड़ गए हैं।

आइए हम तस्वीरों के साथ कॉमरेड महेंद्र सिंह का संघर्षपूर्ण जीवन और शहादत से रूबरू करवाते हैं।