प्रेमियों को अब नहीं सता पाएगी पुलिस

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची. पुलिस अब पार्को या अन्य सार्वजनिक स्थलों पर बैठे प्रेमी युगल को नहीं सताएगी। जमशेदपुर के एसपी ने इस संबंध में सभी अधीनस्थ पुलिस अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। राज्य सरकार की ओर से यह जानकारी मंगलवार को झारखंड हाईकोर्ट में दी गई। सरकार के आश्वासन के बाद एक्टिंग चीफ जस्टिस डीएन पटेल व जस्टिस एस चंद्रशेखर की अदालत ने याचिका निष्पादित कर दी।

इस मामले में एक पत्र को आधार बनाते हुए हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया था। पत्र में जमशेदपुर के जुबली पार्क की घटना की जानकारी दी गई थी। बताया गया था कि पुलिस ने वहां बैठे प्रेमी युगल के साथ अभद्रता की और उन्हें पार्क में बैठने नहीं दिया गया। कोर्ट ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सरकार को निर्देश दिया था कि पुलिस को ऐसा अधिकार नहीं है कि किसी को पार्क, मॉल या अन्य किसी स्थान पर बैठने से रोके। पुलिस भविष्य में इस तरह की कार्रवाई नहीं करेगी, इस पर सरकार से जवाब मांगा गया था।

मंगलवार को मामले की सुनवाई के दौरान सरकार ने कोर्ट को बताया कि जमशेदपुर एसपी ने सभी कनीय पुलिस पदाधिकारियों को निर्देश देते हुए यह सुनिश्चित करने को कहा है कि सार्वजनिक स्थल पर प्रेमी युगल को परेशान नहीं किया जाए।

खून पीने वाले हत्यारे को मिला उम्रकैद

हत्या के एक मामले में दोषी पाकर न्यायायुक्त एके मिश्रा की अदालत ने मंगलवार को वीरू महतो को उम्रकैद की सजा सुनाई है। वहीं अलग से 10 हजार का जुर्माना भी लगाया है। आरोप है कि वर्ष 2010 में उसने अनगड़ा थाना क्षेत्र के हेसल बाड़ा स्थित स्कूल के टीचर सहरनाथ महतो की घर में घुस कर दवली से हत्या कर दी थी। उसके बाद मृतक के शरीर से निकले खून को भी वह पी गया था। उसी दौरान मृतक की पत्नी सगन देवी ने तलवार से उसका एक पैर काट डाला था। थी। सगन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिसमें अभी भी सुनवाई जारी है।