पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Once Again The Government Was Trying To Make A Start In State

प्रदेश मे एक बार फिर शुरू हुई सरकार बनाने की कोशिश

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रांची . सीबीआई व निगरानी का दुरुपयोग कर कांग्रेस प्रदेश की राजनीति को हाईजैक करने का प्रयास कर रही है। दिल्ली में सरकार गठन की मुहिम शुरू हो चुकी है। कांग्रेस फिर से प्रदेश को एक गंदी राजनीति का शिकार बनाने जा रही है। अगर राज्य में पुन: जोड़-तोड़ कर सौदेबाजी की सरकार बनती है तो झाविमो उसका पुरजोर विरोध करेगा। ये बातें झाविमो विधायक दल के नेता प्रदीप यादव ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहीं।
उन्होंने कहा कि सूचना आ रही है कि कांग्रेस नेतृत्व अपने पास रखेगी। ऐसे में झामुमो को स्पष्ट करना चाहिए कि जब नेतृत्व अपने पास रखने के सवाल पर ही उसने भाजपा से समर्थन वापस लिया था, तो अब किस कारण से कांग्रेस के समक्ष घुटने टेक रहा है।
उन्होंने कहा कि इस बात की पक्की सूचना है कि नई सरकार में आजसू का भी समर्थन रहेगा। ऐसे में आजसू को स्पष्ट करना चाहिए कि वह नए जनादेश की बातें कह कर जनता को गुमराह क्यों कर रही है?
उन्होंने कहा कि कांग्रेस झारखंड में सरकार जनता के लिए नहीं, बल्कि खनिज-संपदा की डील के लिए बनाने जा रही है। वह झामुमो, आजसू व राजद पर विभिन्न तरह की जांच बैठाने का दबाव डालकर अपने पक्ष में आंकड़े जुटाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि अब तक झारखंड में जितनी भी सरकारें बनीं वह दिल्ली के इशारे पर बनीं। यही कारण रहा है कि झारखंड में विकास का एजेंडा गौण रहा। झाविमो इन सभी बातों को लेकर जनता के बीच जाएगा और सभी दलों को बेनकाब करेगा।
सरकार बनाने की गंभीर कोशिश
रांची . सरकार बनाने की गंभीर कोशिश एक बार फिर शुरू हुई है। कांग्रेस और झामुमो के बड़े नेता प्रदीप बलमुचू, शिबू सोरेन, सुबोधकांत सहाय, हेमंत सोरेन सोमवार को एक साथ दिल्ली गए। बजट सत्र के बहाने दिल्ली में जुटे तमाम नेताओं के बीच अगले एक-दो दिन में बातचीत होने की उम्मीद है।
कांग्रेस प्रभारी शकील अहमद से भी इन नेताओं की बातचीत होगी। सरकार बनाने के संबंध में जल्द फैसला लेने के झामुमो के अल्टीमेटम के बाद यह पहला मौका है जब झामुमो और कांग्रेस के सभी बड़े नेता एक साथ दिल्ली में होंगे। लालू यादव भी दिल्ली में ही हैं।
शिबू सोरेन ने कहा है कि इस बार के दिल्ली दौरे में वह लालू यादव से भी बातचीत करेंगे। झामुमो सूत्रों के अनुसार शिबू सोरेन एक सप्ताह तक दिल्ली में रहेंगे। इस दौरान कांग्रेस से दो टूक बातचीत होगी।
झामुमो ने चार मार्च तक का दिया है समय
सरकार बनाने के लिए झामुमो ने कांग्रेस को चार मार्च तक की मोहलत दी है। कहा है कि कांग्रेस अगर इस दौरान सरकार बनाने की पहल नहीं करती है, तो पार्टी विधानसभा भंग करने की मांग करेगी। झामुमो ने यह फैसला अपनी केंद्रीय कमेटी की बैठक में लिया है।
प्रदेश कांग्रेस भी दिखा रही नरमी
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप बलमुचू ने भी झामुमो के सुर में सुर मिलाते हुए कहा है कि राज्य में चुनी हुई सरकार बननी चाहिए। पिछले दिनों बलमुचू ने स्पष्ट किया था कि उन्होंने राज्य के विधायकों व अन्य नेताओं से बातचीत करने के बाद प्रदेश कमेटी की भावना से आलाकमान को अवगत करा दिया है। इतना ही नहीं प्रस्तावित नई सरकार में आजसू का साथ भी रहेगा इससे भी आलाकमान को अवगत करा दिया गया है।

आगे की स्लाइड्स में जानें क्या कर रही है कांग्रेस और झामुमो