पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Political Parties Could Agree That The State Government

राजनीतिक दल राजी हों तो प्रदेश में बन सकती है सरकार

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक


रांची .केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा कि झारखंड में राजनीतिक दल तैयार हों तो लोकप्रिय सरकार बन सकती है। केंद्र सरकार राज्य में लोकतांत्रिक सरकार बहाल करना चाहती है इसलिए वहां की विधानसभा को निलंबित रखा गया है।

राजनीतिक दल आपसी सहमति के आधार पर सरकार बनाने का मार्ग प्रशस्त करते हैं तो केंद्र को खुशी होगी। शिंदे ने ये बातें मंगलवार को राज्यसभा में कही। वह झारखंड में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के प्रस्ताव पर चर्चा के बाद अपनी बातें रख रहे थे।

चर्चा के बाद राज्यसभा ने प्रस्ताव को ध्वनिमत से पारित कर दिया। इसके पहले भाजपा ने राज्य में विधानसभा भंग कर चुनाव कराने की मांग की, जबकि झामुमो ने कहा कि राज्य में या तो जल्द सरकार का गठन हो या फिर विधानसभा भंग किया जाए।

उल्लेखनीय है कि गत 18 जनवरी को झारखंड में राष्ट्रपति शासन लगाया गया था। इसके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने संविधान के अनुच्छेद 356 के तहत अध्यादेश जारी किया था। इस पर मंगलवार को संसद की स्वीकृति ली गई।

राज्यसभा में चर्चा के दौरान गायब रहे भाजपा के सदस्य
झारखंड में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने का जोरदार विरोध करने वाली भाजपा के अधिकांश सदस्य राज्यसभा में चर्चा के दौरान अनुपस्थित दिखे। झारखंड से केवल जेपीएन सिंह ने अपनी बातें रखीं।

भाजपा से अधिक जोरदार ढंग से झामुमो सांसद ने ही राज्यसभा में विधानसभा भंग कर चुनाव कराने की मांग की।
गृह मंत्री शिंदे ने कहा कि झारखंड के नॉर्थ कर्णपुरा पावर प्लांट को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। हालांकि इस क्षेत्र में बड़ी मात्रा में कोयले का भंडार है, जिसका दोहन किया जा सकता था, पर इस जगह पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने पावर प्लांट लगाने की आधारशिला 1998 में रखी थी

इसलिए केंद्र सरकार ने यहां पावर प्लांट लगाने का निर्णय लिया है। शिंदे ने अपने वक्तव्य में यह भी कहा कि झारखंड समेत तीन राज्यों का गठन प्रशासन को सुगम बनाने के लिए किया गया था पर झारखंड में परिस्थितियां अनुकूल साबित नहीं हुई।

यहां कुछ और होने लगा। झारखंड के मामले में केंद्र सरकार कोई राजनीति करने के पक्ष में नहीं है, वहां परिस्थितियों के कारण राष्ट्रपति शासन लगाना पड़ा है।

मोल-भाव के लिए कांग्रेस ने बिछाए हैं मोहरे : भाजपा
राज्यसभा में चर्चा की शुरुआत करते हुए भाजपा के सांसद भूपेन्द्र यादव ने कहा कि कांग्रेसनीत केंद्र सरकार ने राजनीतिक प्रलोभन एवं मोलभाव के लिए झारखंड में शतरंज के मोहरे बिछाए और भाजपा झामुमो की सरकार को तोडऩे का काम किया।

जनादेश की अवहेलना की। राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया। उन्होंने मांग की कि विधानसभा को भंग कर राज्य में तत्काल चुनाव कराए जाएं।
सरकार बनाएं या चुनाव कराएं : झामुमो
झामुमो से राज्यसभा सदस्य संजीव कुमार ने मांग की कि झारखंड में या तो तुरंत सरकार बननी चाहिए या फिर विधानसभा भंग कर चुनाव कराया जाना चाहिए।

झारखंड के साथ शुरु से केंद्र सरकार भेदभाव वाला रवैया अपना रहा है। राज्य में विस्थापन की बड़ी समस्या है, इसके निदान के लिए भी केंद्र से मदद नहीं मिल रही।