टीएमसी सुबोध के संपर्क में, कांग्रेस के टिकट पर अभी तक नहीं हुआ फैसला

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची/सिमडेगा. पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद सुबोधकांत सहाय को रांची से कांग्रेस के टिकट पर सोमवार को भी फैसला नहीं हो सका। उनके टिकट पर सस्पेंस बरकरार है। वे दिल्ली में लगातार केंद्रीय नेतृत्व के संपर्क में हैं। समय बीतने के साथ ही सुबोधकांत को टिकट मिलने की संभावना कम होती जा रही है। ऐसे में टीएमसी और आजसू के नेता उनसे संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं। इधर, खूंटी संसदीय सीट से कांग्रेस का टिकट नहीं मिलने से नाराज सिमडेगा कांग्रेस जिलाध्यक्ष निएल तिर्की ने आजसू में जाने का फैसला किया है।

सुबोधकांत के समर्थन में दिल्ली पहुंचे कांग्रेसी नेताओं ने सोमवार को बीके हरिप्रसाद, पूर्व प्रदेश प्रभारी डॉ. शकील अहमद, मधुसूदन मिस्त्री और जनार्दन द्विवेदी से मुलाकात की। उन्होंने सुबोधकांत को टिकट दिलाने में मदद करने की गुहार लगाई। दिल्ली पहुंचे नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने का भी समय मांगा है। मंगलवार को मुलाकात संभव है। राहुल गांधी बुधवार को सीटों पर फैसला करेंगे। रांची से टिकट के लिए युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव पांडेय दीपिका सिंह का नाम भी चर्चा में आ गया है।

कांग्रेस चाटुकारों की पार्टी : निएल

निएल ने कहा कि कांग्रेस चाटुकारों और षड्यंत्रकारियों की पार्टी बनती जा रही है। इन लोगों ने ही उनका टिकट काटा है। उन्होंने कहा कि कहा कि मंगलवार को वे खूंटी लोकसभा क्षेत्र के सभी प्रतिनिधियों के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत से मुलाकात करेंगे। बात नहीं बनी तो पार्टी छोड़ देंगे। उनके मुताबिक, खूंटी से कालीचरण मुंडा को टिकट दिया जाना अन्य पार्टियों के लिए वॉकओवर के जैसा है।

ददई दुबे के समर्थन में प्रखंड अध्यक्षों का इस्तीफा

टीएमसी में शामिल हुए ददई दुबे के समर्थन में सोमवार को कांग्रेस के विश्रामपुर-मझिआंव विधानसभा क्षेत्र के सात प्रखंड अध्यक्ष और पंचायत अध्यक्ष समेत अन्य समर्थकों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दे दिया।

जभासपा से लोकसभा चुनाव लड़ेंगी गीता कोड़ा

विधायक गीता कोड़ा सिंहभूम संसदीय सीट से जय भारत समानता पार्टी (जभासपा) से लोकसभा चुनाव लड़ेंगी। इसकी घोषणा सोमवार को जभासपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने की।

गुरुजी से मिले साइमन, बेटे के लिए मांगा टिकट

ग्रामीण कार्य मंत्री साइमन मरांडी बेटे दिनेश मरांडी के साथ सोमवार को झामुमो प्रमुख शिबू सोरेन से मिले। साइमन ने गुरुजी से दिनेश को राजमहल संसदीय क्षेत्र से टिकट देने का आग्रह किया। साइमन ने कहा कि हेमलाल मुर्मू के पार्टी छोड़ कर जाने के बाद वर्तमान परिस्थिति में दिनेश सबसे योग्य प्रत्याशी हैं। क्षेत्र के युवाओं पर भी उनकी मजबूत पकड़ है। साइमन ने बताया कि गुरुजी ने पूरे मसले को ध्यान से सुना और सकारात्मक निर्णय का भरोसा दिया। उल्लेखनीय है कि विजय हांसदा के झामुमो में शामिल होने के बाद उन्हें राजमहल से टिकट मिलने की संभावना अधिक है। विजय के पार्टी में शामिल होने पर साइमन ने कहा था कि वे इस कदम का स्वागत नहीं करेंगे।