• Hindi News
  • Hardline Hurriyat Conference Chairman Syed Ali Shah Geelani Jammu Kashmir

जुबिन के कंसर्ट पर कश्मीर में हड़ताल का आह्वान

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

श्रीनगर। कट्टरपंथी हुर्रियत कांफ्रेंस के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी ने अंतरराट्रीय संगीतज्ञ जुबिन मेहता के कंसर्ट के विरोध में सात सितंबर को आम हड़ताल का आह्वान किया है। गिलानी ने युवाओं को शनिवार को प्रदर्शन करने और सिविल क र्यू लगाने के लिए कहा है।

कट्टरपंथी नेता ने शुक्रवार की नमाज के बाद शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन आयोजित करने को कहा है। मु यमंत्री उमर अब्दुल्ला के मुताबिक संगीत कश्मीरियत का हिस्सा रहा है और ऐसे आयोजन से कश्मीर मसले पर असर नहीं पड़ेगा।


अली शाह गिलानी ने सोमवार को कश्मीर के इमामों से कहा कि वे लोगों को शो के प्रभावों बारे में जागरूक करें। जर्मन दूतावास सात सितंबर को प्रसिद्ध शालीमार गार्डन में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है जिसमें जुबिन मेहता प्रस्तुति देंगे। गिलानी ने आरोप लगाया कि कंसर्ट का मकसद कश्मीर मुद्दे से ध्यान हटाना है।

इस कंसर्ट से आयोजक चाहते हैं कि हम अपनी पीड़ा भूल जाएं। उन्होंने कहा कि इस कंसर्ट का कश्मीरियों के लिए ''कोई मतलबÓÓ नहीं है और वे ''कड़ाई से इसका विरोध करते हैं।ÓÓ गिलानी ने कहा कि उन्होंने जर्मन अंबेसेडर माइकल स्टेनर से आयोजन रद्द करने के लिए कहा था। गिलानी ने आरोप लगाया कि जुबिन मेहता इजराइल के कार्यक्रम को कश्मीर में लेकर आ रहे हैं।


अलगाववादी नेता ने लोगों से सात सितंबर को सिविल कर्फ्यू और साथ ही व्यापारियों और ट्रांसपोर्टरों से पूर्ण बंद रखने को कहा है। उन्होंने निजी कार चालकों से अपील करते हुए कहा वे अपना विरोध दर्ज कराने के लिए बंद रखें। यह बंद किसी देश या व्यक्ति के विरोध में नहीं है बल्कि कश्मीर आवाम की पीढ़ा को लेकर है।

कश्मीर में भारतीयों और जर्मन का स्वागत है लेकिन कश्मीर विवादित क्षेत्र है। भविष्य में कश्मीर में किसी प्रकार के अंतर्राष्ट्रीय आयोजन को नहीं होने दिया जाएगा जिससे कश्मीर के रुख पर असर पड़ता हो। उधर मु यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि इस आयोजन से कश्मीर मसले पर असर नहीं पड़ेगा जबकि संगीत कश्मीरियत का हिस्सा रहा है।

अगर कश्मीर मुद्दे पर ऐसे आयोजन से फर्क पड़ा होता तो कश्मीर को राजनीतिक मुद्दा नहीं माना गया होता। इस आयोजन से कश्मीरी आवाम को विश्व से जुड़ेगा और जर्मन दूतावास का यही मकसद है। ज्ञात रहे कि पूर्व मु यमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भी राज्य सरकार से जुबिन मेहता के आयोजन के लिए व्यापक बंदोबस्त करने के लिए कहा था।