पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • As Soon As The Rain Increased The Risk Of Disease,

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बरसात शुरू होते ही बढ़ा बीमारियों का खतरा, बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कटड़ा। बरसात शुरू होते ही बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। ऐसे में यदि थोड़ी सी सावधानी बरती जाए तो इसके खतरों से निपटा जा सकता है। जिला स्वास्थ्य विभाग ने भी जरूरी हिदायतें देकर लोगों को सावधान रहने की सलाह दी है। इसके अलावा जिला स्वास्थ्य विभाग ने माता वैष्णो देवी यात्रा मार्ग के लिए भी अलग से प्रबंध करने का फैसला किया है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने दवाओं का कोटा भी जमा कर लिया है। विशेषज्ञ मानते हैं कि बरसात में होने वाली बीमारियां या गंभीर रोग अक्सर पानी की खराबी या सड़ी-गली चीजें खाने से होती हैं। जबकि बीमारी के लक्षण बुखार आना या फूड प्वाइजनिंग है। बरसात के मौसम में ज्यादातर मलेरिया, डेंगू और फूड प्वाइजनिंग होने का खतरा ज्यादा रहता है। इस संबंध में डॉ. गोपाल दत्त के मुताबिक बरसात के दिनों में फूड प्वाइजनिंग की आशंका बढ़ जाती है। बाहर का खाना खाने से भी फूड प्वाइजनिंग का खतरा रहता है। बच्चों, बुजुर्गो और महिलाओं को फूड प्वाइजनिंग होने की आशंका ज्यादा रहती है। जिनकी रोग प्रतिरोधी क्षमता मजबूत नहीं है वे जल्दी इसके शिकार होते हैं। गर्भवती महिलाओं को लिस्टेरिया नामक बैक्टीरिया के कारण फूड प्वाइजनिंग होने की आशंका ज्यादा रहती है, जिसके गर्भ में पल रहे शिशु को भी इन्फेक्शन हो सकता है। यह बैक्टीरिया ज्यादातर एक तरह के सॉफ्ट पनीर, कच्चा दूध, पोल्ट्री और बिना ठीक से धुले फल व सब्जी तथा मीट में पनपते हैं। ऐसी स्थिति में गर्भवती महिलाएं सॉफ्ट पनीर खाने से बचें। खाना बनाते समय सावधानी इखाना बनाने के बर्तन और जगह को साफ-सुथरा रखें। इसब्जियों और फलों को अच्छी तरह से धोएं। इखाना बनाने से पहले और बाद में हाथ अच्छी तरह से साबुन या हैंड वॉश से साफ करें। इसब्जियों को काटने के लिए एक सख्त, चिकने व मजबूत बोर्ड का इस्तेमाल करें, जिसे इस्तेमाल से पहले व बाद में गरम पानी और बर्तन धोने के साबुन से नियमित रूप से साफ करें। इखाना बनाने के दौरान इस्तेमाल में आने वाले कपड़े, एप्रॉन, बरतन धोने वाले स्पंज, सिंक आदि की नियमित सफाई करें। इताजा और हल्का खाना खाएं। फूड प्वाइजनिंग से बचाव सबसे पहले भोजन करने से पहले यह जांच लें कि वो काफी पहले का पका तो नहीं है। बरसात के मौसम में बाहर का बना हुआ खाना खाने या फिर अधिक ठंडे पदार्थो के सेवन से भी फूड प्वाइजनिंग के खतरे की आशंका बढ़ जाती है। बहुत दिनों तक फ्रिज में रखे हुए खाद्य पदार्थो के इस्तेमाल से बचना चाहिए। डिब्बाबंद खाद्य पदार्थो खरीदने से पहले जांच लें। साथ ही यह भी देखना जरूरी है कि डिब्बा या पैकेट अच्छी तरह से सील तो है।डेयरी उत्पाद, मछली और अंडे खरीदते समय विशेष सावधानी बरतें। अगर बाहर खाना हो तो साफ-सुथरी जगह पर खाएं।बारिश के मौसम में मसालेदार भोजन का सेवन आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें