--Advertisement--

2 दिन पहले ही छेड़छाड़ वाला कानून हुआ सख्त, अब BJP नेता ने बच्ची को ऐसे छेड़ा

चलती ट्रेन में 10 साल की बच्ची से कथित तौर पर छेड़खानी...

Danik Bhaskar | Apr 23, 2018, 02:22 PM IST

न्यूज डेस्क। एक दिन पहले ही राष्ट्रपति ने प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्शुअल ऑफेंसेस एक्ट (पॉक्सो) में संशोधन को लेकर लाए गए अध्यादेश को मंजूरी दी थी, और अब पॉक्सो के तहत एक बीजेपी नेता पर ही केस दर्ज हुआ है।

थिरुवनंतपुरम-चेन्नई एक्सप्रेस में नाबालिग के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। शनिवार को चलती ट्रेन में 10 साल की बच्ची से कथित तौर पर छेड़खानी के आरोप में चेन्नई के एक वकील को गिरफ्तार किया गया है। छेड़खानी करने वाले आरोपी की पहचान केपी प्रेम अनंत के रूप में हुई है। अनंत ने 2006 में बीजेपी प्रत्याशी के तौर पर चेन्नई की आरके नगर सीट से चुनाव लड़ा था।

आरोप है कि थिरुवनंतपुरम-चेन्नई एक्सप्रेस में नाबालिग सो रही थी, तब वो अश्लील तरीके से छू रहा था। अहसास होने पर पीड़िता जाग गई और शोर मचाया। जिसके बाद परिवार को पता चला। रेलवे पुलिस ने आरोपी को पॉक्सो एक्ट के तहत अरेस्ट किया है। यह एक्ट नए संशोधनों के बाद और ज्यादा सख्त हो गया है।

छेड़छाड़ के मामले में दोषी पाए जाने पर 5 साल कैद की सजा

> सरकार ने निर्भया केस के बाद कानून काफी सख्त किए हैं। एंटी रेप लॉ बनाया गया है। हाईकोर्ट एडवोकेट संजय मेहरा का कहना है कि धारा 354 के तहत छेड़छाड़ के मामले में दोषी पाए जाने पर अधिकतम 5 साल कैद की सजा का प्रावधान किया गया है। कम से कम एक साल कैद की सजा का प्रावधान किया गया है। इसे गैर-जमानती अपराध माना गया है।

> आईपीसी की धारा-354 में कई सब सेक्शन बनाए गए हैं। IPC की धारा-354 ए, 354 बी, 354 सी और 354 डी बनाया गया है।

> अगर कोई शख्स किसी महिला के साथ सेक्सुअल नेचर का फिजिकल टच करता है या फिर ऐसा कंडक्ट दिखाता है जो सेक्सुअल कलर लिया हुआ हो तो 354 ए पार्ट 1 लगेगा।

> वहीं सेक्सुअल डिमांड करने पर पार्ट 2, मर्जी के खिलाफ पोर्न दिखाने पर पार्ट 3 और सेक्सुअल कलर वाले कंमेंट पर पार्ट 4 लगता है। 354 ए के पार्ट 4 में एक साल तक कैद जबकि बाकी तीनों पार्ट में 3 साल तक कैद की सजा का प्रावधान है।

पॉक्सो एक्ट में भी हुए ये बदलाव, देखिए अगली स्लाइड्स में....