विज्ञापन

आपके सोचने का नजरिया पूरी तरह बदल देंगी भगवान परशुराम की ये सीख

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 05:09 PM IST

18 अप्रैल को अक्षय तृतीया है, इसी दिन विष्णु के अवतार भगवान परशुराम का जन्म भी हुआ था।

Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
  • comment

रिलिजन डेस्क। 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया है, इसी दिन विष्णु के अवतार भगवान परशुराम का जन्म भी हुआ था। परशुराम को भगवान विष्णु के आवेशावतार (क्रोध) का अवतार माना जाता है। ग्रंथों की कहानियां कहती हैं कि जब धरती पर क्षत्रिय राजाओं का आतंक बढ़ गया था तब उनके विनाश और समाज को शांति के मार्ग पर लाने के लिए परशुराम के रुप में भगवान विष्णु ने जन्म लिया था। वैसे तो जन्म से वे ब्राह्मण थे लेकिन शस्त्र विद्या में उनके जैसा कोई नहीं था। खुद भगवान शिव ने उन्हें युद्ध की शिक्षा दी थी।

भगवान परशुराम ने पूरे समय अन्यायी और अत्याचारी राजाओं के खिलाफ युद्ध किया। उन्हें क्षत्रियों का विरोधी माना जाता रहा लेकिन वे केवल उन क्षत्रियों के विरोधी थे जो अपने राजपाठ के अभिमान में अत्याचारी हो गए। पारिवारिक जीवन हो या हम किसी करियर फ्रंट पर हों, परशुरामजी ने हमेशा आगे बढ़कर परिस्थितियों से लड़ने की हिम्मत की है। यही सीख उन्होंने हमें जीवन में अपनाने के लिए भी दी है। हमेशा समस्याओं से इस तरह जूझना चाहिए कि वो जड़ से खत्म हो जाए। हम आज भगवान परशुराम के जीवन से सीखी जाने वाली उन बातों को बता रहे हैं जो आपकी सोच को बदल देंगी।

Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
  • comment
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
  • comment
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
  • comment
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
  • comment
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
  • comment
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
  • comment
X
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
Akshay tritiya and  parshuram jayanti 2018
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन