Dharm Granth

--Advertisement--

लड़का-लड़की बनाएंगे लिव इन रिलेशन, 5000 साल पहले हो गई थी ऐसी 10 भविष्यवाणी

5000 साल पहले हो गई थी कलियुग से जुड़ी ये भविष्यवाणियां, आज हो रही सच

Dainik Bhaskar

Dec 24, 2017, 05:00 PM IST
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta

श्रीमद्भागवत पुराण हिंदू धर्म के सबसे महत्वपूर्ण ग्रंथों में से एक है। इस ग्रंथ की रचना आज से लगभग 5000 साल पहले कर दी गई थी। आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि कलयुग में क्या-क्या घटित होगा इसकी भविष्यवाणी भागवत पुराण में पहले कर दी गई थी।

जानिए श्रीमद्भागवत पुराण में की गई कलियुग से जुड़ी कुछ भविष्यवाणियां..

1. श्लोक-

ततानुदिनं धर्मः सत्यं शौचं क्षमा दया।

कालेन बलिना राजन् नड्क्षय्यायुर्बलं स्मृतिः।।

अर्थ-

धर्म, सत्यवादिता, स्वच्छता, सहिष्णुता, दया, जीवन की अवधि, शारीरिक शक्ति और स्मृति सभी दिन-ब-दिन घटती जाएगी।

2. वित्तमेव कलौ नॄणां जन्मचारगुणोदयः ।

धर्मयाययवथायां कारणं बलमेव हि।। 

अर्थ-

कलयुग में जिस व्यक्ति के पास जितना धन होगा वो उतना गुणी माना जाएगा और कानून, न्याय केवल एक शक्ति के आधार पर लागू किया जाएगा।

3. दाम्पत्येभिरुचिहेतमायैव व्यावहारके।

स्त्रीत्वे पुंस्तवे च हि रितर्विप्रत्वे सूत्रमेव हि।।

अर्थ-

इस युग में पुरूष और स्त्री बिना विवाह के ही केवल एक-दूसरे में रुचि के अनुसार साथ-साथ रहेंगे। व्यापार की सफलता छल पर निर्भर करेगी। पहले के समय में जो ब्राह्मण रहते थे वो अपने शरीर पर बहुत कुछ धारण करते थे पर कलयुग में वे लोग सिर्फ एक धागा पहनकर ब्राह्मण होने का दावा करेंगे।

4. लिड्गमेवाक्षमख्यातावनेयोन्यापत्तिकारणम्।

अवृत्तया न्यायदौर्बल्यं पाडिण्त्ये चापलं वचः।।

अर्थ-

जो मनुष्य घूस देने या धन खर्च करने में असमर्थ होगा, उसे अदालतों से ठीक-ठीक न्याय न मिल सकेगा। जो व्यक्ति बहुत चालाक और स्वार्थी होगा वो इस युग में बहुत विद्वान माना जाएगा ।

5. अनाढयतैवासाधुवे साधुत्वे दम्भ एव तु।

स्वीकार एव चोद्वाहे स्नानमेव प्रसाधन्म्।।

अर्थ-

इस युग में जिस व्यक्ति के पास धन नहीं होगा वो अधर्मी, अपवित्र और बेकार माना जाएगा। विवाह दो लोगों के बीच बस एक समझौता बनकर रह जाएगा और लोग बस स्नान करके समझेंगे की वो अंतरआत्मा से भी साफ सुथरे हो गए है ।

6. दरे वार्ययनं तीर्थ लावण्यं केशधारणम्।

उदरंभरता स्वार्थ सत्य्त्वे धाष्टर्यमेव हि।।

अर्थ-

लोग दूर के नदी-तालाबों को तो तीर्थ मानेंगे, लेकिन अपने पास रह रहे माता-पिता की निंदा करेंगे। सिर पर बड़े-बड़े बाल रखना ही सुंदरता मानी जाएगी और केवल पेट भरना ही लोगों का लक्ष्य हो जाएगा।

7. अनावृष्टया व्याधिभिश्चैव सन्तप्स्यन्ते च चिन्या।

शीतवीतीवपप्रावृड्हिमैरन्योन्यतः प्रजाः।।

अर्थ-

कभी बारिश न होगी, सूखा पड़ जाएगा। कभी कड़ाके की सर्दी पड़ेगी तो कभी भीषण गर्मी हो जाएगी। कभी आंधी आएगी तो कभी बाढ़ आ जाएगी। इन परिस्थितियों से लोग परेशान होंगे और नष्ट होते जाएंगे।

8. आत्छिन्नदारद्रविणा याय्स्न्ति गिरिकाननम्।

शाकमूलामिषक्षौद्रफलपुष्पाष्टिभोजनाः।।

अर्थ-

अकाल और अत्याधिक करों के कारण परेशान होकर लोग घर छोड़-कर सड़कों और पहाड़ों पर रहने को मजबूर हो जाएंगे, साथ ही पत्ते, जड़, मांस, जंगली शहद, फल, फूल और बीज खाने को मजबूर हो जाएंगे।

9. दाक्ष्यम कुटुम्बभरणं यशाड्थे धर्मसेवनम् ।

एवं प्रजाभिर्दुभिराकीर्णों क्षितिमण्डले।।

अर्थ-

धर्म-कर्म के काम केवल लोगों के सामने अच्छा दिखने और दिखावे के लिए किए जाएगे। पृथ्वी भ्रष्ट लोगों से भर जाएगी और लोग सत्ता हासिल करने के लिए एक दूसरे को मारेंगे।

10. क्षित्तृड्भ्या व्याधिभिश्चैव सन्तप्स्यन्ते च चिन्चया।

त्रिंशद्विंशतिवर्षाणि परमायुः कलौ नृणाम्।।

अर्थ-

लोग भूख-प्यार और कई तरह की चिंताओं के दुखी रहेंगे। कई तरह की बीमारियां उन्हें हर समय घेरे रहेंगे। कलियुग में मनुष्यों की उम्र केवल बीस या तीस वर्ष की होगी

आगे की स्लाइड्स पर देखें ग्राफिकल प्रेजेंटेशन....

10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
X
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
10 prediction about kalyug in bhagwat geeta
Click to listen..