Dharm Granth

--Advertisement--

इन 4 के अलावा जो करता है मेहमान से पहले भोजन, शुरू हो जाता है उसका बुरा समय

सिर्फ ये 4 कर सकते हैं घर आए मेहमान से पहले भोजन

Dainik Bhaskar

Feb 26, 2018, 06:00 PM IST
manusmriti lesson in hindi, Manu Smriti and Women

हिंदू धर्म में कई नियम-कायदों के बारे में बताया गया है, जिनका पालन हर किसी को करना चाहिए। जो भी मनुष्य इन बातों को ध्यान में रखता है, वह बुरे समय से बचा रहता है।

मनुस्मृति में ऐसे ही कई नियमों के बारे में वर्णन मिलता है, जिनका पालन न करना मनुष्य के लिए बर्बादी का कारण बन सकता है। मनुस्मृति के तृतिय अध्याय में दिए गए श्लोक के अनुसार इन 4 खास लोगों को छोड़कर किसी को भी घर आए मेहमान से पहले भोजन नहीं करना चाहिए। इस बात की अनदेखी करने से मनुष्य का बुरा समय शुरू हो सकता है।

श्लोक-

सुवासिनी: कुमारीश्च: रोगिणी: गर्भिणी: स्त्रिय: ।

अतिथिभ्योन्वगेवैतान् भोजयेदविचारयन्।।

1. विवाह योग्य कन्या

मनुस्मृति के अनुसार विवाह के योग्य कन्या का घर आए मेहमान से पहले भोजन करना गलत नहीं माना जाता। विवाह के योग्य कन्या को ऐसा करने पर किसी तरह का दोष नहीं लगता।

2. कम उम्र की कन्या

कम उम्र की कन्या को स्वयं देवी का रूप माना जाता है। इनकी पूजा करने से और इन्हें भोजन करवाने से भगवान प्रसन्न होते हैं। ऐसे में घर आए मेहमान से पहले कम उम्र की कन्या का भोजन करना तो अच्छा माना जाता है।

3. बीमार स्त्री

किसी भी बीमार इंसान के लिए घर आए मेहमान से पहले भोजन करना दोषरहित होता है, खासकर स्त्रियों के लिए। अगर कोई इंसान बीमार है तो ऐसे में उसका घर आए मेहमान से पहले भोजन करना अशुभ नहीं माना जाता।

4. गर्भवती स्त्री

गर्भवती स्त्री को भी शास्त्रों में पूजनीय बताया गया है। ऐसे में इन पर यह नियम लागू नहीं होता। घर आए मेहमान से पहले गर्भवती स्त्री का भोजन करना दोषरहित होता है।

आगे देखें खबर का ग्राफिकल प्रेजेंटेशन...

manusmriti lesson in hindi, Manu Smriti and Women
manusmriti lesson in hindi, Manu Smriti and Women
manusmriti lesson in hindi, Manu Smriti and Women
X
manusmriti lesson in hindi, Manu Smriti and Women
manusmriti lesson in hindi, Manu Smriti and Women
manusmriti lesson in hindi, Manu Smriti and Women
manusmriti lesson in hindi, Manu Smriti and Women
Click to listen..