Dharm Granth

--Advertisement--

रामायण और महाभारत की 9 चौकाने वाली समानताएं, नहीं जानते होंगे आप

अलग युग होने के बावजूद रामायण-महाभारत में बिल्कुल एक जैसी थीं ये 9 बातें

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 05:00 PM IST
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

ग्रंथों और पुराणों में बताया गया है कि भगवान विष्णु ने पापों का विनाश करने के लिए हर युग में अलग-अलग अवतार लिए। रामायण और महाभारत हिंदू धर्म के सबसे महान ग्रंथों में गिने जाते हैं। इन दोनों की घटनाओं का संबंध अलग-अलग युगों से ही है। जहां रामायण की पृष्ठभूमि त्रेतायुग की है, वहीं महभारत का संबंध द्वापरयुग से है।

युगों का अंतर होने के बावजूद दोनों ग्रंथों में कुछ बातें बहुत समान हैं, आइए जानते हैं रामायण और महाभारत की उन घटनाओं के बारे में जो बहुत कुछ एक दूसरे से मिलती-जुलती हैं।

1. सीता और द्रौपदी का जन्म

रामायण की नायिका सीता और महाभारत की नायिका द्रौपदी दोनों में ही एक बात समान थी। दोनों ने ही अपनी मां की कोख से जन्म नहीं लिया था। द्रौपदी की उत्पत्ति अग्नि में से हुई थी और देवी सीता जमीन में से प्रकट हुई थीं।

आगे की स्लाइड्स पर जानें अन्य 8 बातों के बारे में...

The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

रामायण और महाभारत के नायकों के जन्म के पीछे छिपी कहानी भी एक दूसरे से मिलती है। भगवान राम और पांडव भाई, इन दोनों का जन्म वरदान के फलस्वरूप हुआ था।

The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

रामायण में जहां सीता स्वयंवर में भगवान राम ने उन्हें शिव धनुष पर प्रत्यंचा चढ़ाकर अपनी पत्नी बनाया था, वहीं महाभारत में अपनी बाण से मछली की आंख पर निशाना मारकर अर्जुन ने द्रौपदी स्वयंवर में विजय होकर  उनसे विवाह किया था।

The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

महाभारत और रामायण में दोनों ही ग्रंथों की नायिका देवी सीता और द्रौपदी अपने पति के साथ वन में रहने जाती हैं। वन में रहते हुए रावण देवी सीता का हरण कर लेता है, वहीं जयद्रथ द्रौपदी का हरण करता है।

The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

दोनों ही ग्रंथों में एक बड़ी समानता यह भी है कि रामायण और महाभारत दोनों की ग्रंथों में युद्ध स्त्री के सम्मान के लिए लड़ा गया था और दोनों युद्ध में बुराई का अंत और सत्य की विजय हुई।

The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

माता कैकेयी के लालच की वजह से भगवान राम, उनके भ्राता लक्ष्मण और देवी सीता को 14 वर्ष वनवास के लिए जाना पड़ा था। वहीं अपने चचेरे भाइयों के साथ खेले गए जुए में मिली हार की सजा के तौर पर पांडवों को 12 वर्ष के वनवास और 1 वर्ष के अज्ञातवास झेलना पड़ा।

The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

रामायण की कहानी में भगवान हनुमान मौजूद थे, वहीं महाभारत की कहानी में भी भीम का जन्म पवन देव के आशीर्वाद से ही हुआ था। इस कारण भीम को भी पवनपुत्र कहा जाता है। पूरे महाभारत युद्ध में हनुमान अर्जुन के रथ के  ध्वज पर विराजमान रहे।

The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

रामायण में भगवान राम का अपने भाइयों के साथ संबंध अद्भुत था। माताएं भले ही अलग-अलग थीं लेकिन श्रीराम अपने सभी भाइयों से बहुत प्रेम करते थे। महाभारत की कहानी में भी पाडवों को लेकर कुछ ऐसा ही था।

The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata

युद्ध के बाद जब भगवान राम, लक्ष्मण और देवी सीता अयोध्या लौटे तब श्रीराम का राज्याभिषेक किया गया। महाभारत में भी जब कौरव-पांडव युद्ध के बाद युद्धिष्ठिर को राजपाठ सौंपा गया और दोनों के राज्य में सत्य और शांति की स्थापना हुई।

X
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
The unknown similarities between Ramayana and Mahabharata
Click to listen..