Dharm

--Advertisement--

विवेकानंद जी की तरह तेज दिमाग चाहते हैं तो अपनाएं उनके बताएं ये 2 तरीके

दिमाग तेज करने के लिए स्वामी विवेकानंद ने बताए थे ये 2 असरदार तरीके

Dainik Bhaskar

Jan 30, 2018, 05:00 PM IST
How to achieve concentration like Swami Vivekananda

स्वामी विवेकानंद अपनी तेज बुद्धि एवं स्मरण शक्ति के लिए जाने जाते हैं। वे हजारों पन्नों की किताबें कुछ ही घंटो में याद कर लिया करते थे। यह सही है कि स्वामी विवेकानंद की बुद्धि बचपन से ही अन्य बच्चों की तुलना में प्राकृतिक रुप से ज्यादा तेज थी, लेकिन अपने मस्तिष्क को अधिक कुशाग्र बनाने के लिए विवेकानंद ने अभ्यास भी किया था।

स्वामी विवेकानंद अपने बुद्धि को तेज करने के लिए 2 बातों का पालन करते थे। उनके अनुसार कोई भी व्यक्ति इसका पालन करे तो वह अपनी सीखने की क्षमता को बहुत अधिक बढ़ा सकता है। स्वामी जी के अनुसार ध्यान और ब्रह्मचर्य का पालन कर हम अपने मस्तिष्क की क्षमता को बढ़ा सकते हैं।

ध्यान करने से हमारी एकाग्रता बढ़ती है

हमारा मस्तिष्क जितना एकाग्र रहेगा हम उतना ही जल्दी किसी भी चीज को याद कर सकते हैं। एकाग्र मस्तिष्क के लिए यह भी जरूरी है कि हम अपने इंद्रियों पर नियंत्रण रखें। ध्यान के महत्व का उल्लेख करते हुए स्वामी विवेकानंद ने एकबार कहा था कि अगर उन्हें बचपन में ही किसी ने ध्यान के बारे में बताया होता तो वे सैकड़ों किताबों को पढ़ने के बजाए सिर्फ ध्यान करते।

कैसे करें ब्रह्मचर्य का पालन

विवेकानंद जी के अनुसार अगर कोई सख्ती से ब्रह्मचर्य का पालन करता है तो वो किसी चीज को एक बार पढ़कर या सुनकर याद रख सकता है। लेकिन यह ध्यान रखना जरूरी है कि स्वामी विवेकानंद के ब्रह्मचर्य का अर्थ सिर्फ अपने आप को शारीरिक रूप से काम से दूर रखना नहीं है। अगर आपके मस्तिष्क में कामभावनाएं सोचते रहते हैं और आप खुद पर जबरदस्ती ब्रह्मचर्य थोप रहे हैं तो इससे फायदे से अधिक नुकसान होने की संभावना है। अगर आप ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहते हैं तो जरूरी है कि आप पहले ध्यान का अभ्यास कर अपने इंद्रियों को नियंत्रण में कर लें।

आगे देखें खबर का ग्राफिकल प्रेजेंटेशन...

How to achieve concentration like Swami Vivekananda
How to achieve concentration like Swami Vivekananda
X
How to achieve concentration like Swami Vivekananda
How to achieve concentration like Swami Vivekananda
How to achieve concentration like Swami Vivekananda
Click to listen..