चंद्रगुप्त को सम्राट बनाने वाले चाणक्य जीते थे ऐसी लाइफ, आश्चर्य में पड़ गया था राजदूत / चंद्रगुप्त को सम्राट बनाने वाले चाणक्य जीते थे ऐसी लाइफ, आश्चर्य में पड़ गया था राजदूत

जीवनमंंत्र डेस्क

May 26, 2017, 01:12 AM IST

किसी समय में पाटलिपुत्र के मंत्री आचार्य चाणक्य हुआ करते थे।

chankya chankya
किसी समय में पाटलिपुत्र के मंत्री आचार्य चाणक्य हुआ करते थे। वे बहुत ही विद्वान और न्यायप्रिय व्यक्ति थे। इतने बडे साम्राज्य के महामंत्री होने के बावजूद एक साधारण सी कुटिया में रहते थे। आम आदमी की तरह उनका रहन-सहन था। एक बार यूनान का राजदूत उनसे मिलने राजदरबार पहुंचा। राजनीति और कूटनीति में दक्ष चाणक्य की चर्चा सुनकर राजदूत मंत्रमुग्ध हो गया। राजदूत ने शाम को चाणक्य से मिलने का समय मांगा। आचार्य ने उससे कहा आप रात को मेरे घर आ सकते हैं।
आगे पढ़ें- कहानी का अगला भाग...
chankya chankya
राजदूत चाणक्य के व्यवहार से बहुत खुश हुआ। शाम को जब वह राजमहल परिसर में उनके निवास के बारे में पूछने लगा। तब राज प्रहरी ने बताया कि आचार्य चाणक्य तो नगर के बाहर रहते हैं। राजदूत ने सोचा शायद महामंत्री का नगर के बाहर सरोवर पर बना सुंदर महल होगा। राजदूत नगर के बाहर पहुंचा। एक नागरिक से पूछा कि चाणक्य कहां रहते हैं। एक कुटिया की ओर इशारा करते हुए नागरिक ने कहा-देखिए, वह सामने महामंत्री की कुटिया है।
 
 
 
chankya chankya
राजदूत आश्चर्य चकित रह गया। उसने कुटिया में पहुंचकर चाणक्य के पांव छुए और शिकायत की। आप जैसा चतुर महामंत्री एक कुटिया में रहता है। चाणक्य ने कहा-अगर में जनता की कड़ी मेहनत और पसीने की कमाई से बने महलों में रहूंगा तो मेरे देश के नागरिक को कुटिया भी नसीब नहीं होगी। चाणक्य की ईमानदारी पर यूनान का राजदूत नतमस्तक हो गया।

सीख:1. महान बनने के लिए सबसे आवश्यक गुण सादगी ही होता है।
2. शासक को हमेशा ईमानदार होना चाहिए। तभी देश की तरक्की संभव है।
X
chankyachankya
chankyachankya
chankyachankya
COMMENT