इतिहास की सबसे खूबसूरत महिला को इसलिए बनना पड़ा था वेश्या, ये है कहानी / इतिहास की सबसे खूबसूरत महिला को इसलिए बनना पड़ा था वेश्या, ये है कहानी

जीवनमंत्र डेस्क

Jun 22, 2017, 02:56 AM IST

जिसे अपनी खूबसूरती की कीमत वेश्या बनकर चुकानी पड़ी।

Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha

ये कहानी है भारतीय इतिहास की सबसे खूबसूरत महिला के नाम से विख्यात आम्रपाली कि जिसे अपनी खूबसूरती की कीमत वेश्या बनकर चुकानी पड़ी। आम्रपाली ने अपने लिए ये जीवन खुद नहीं चुना था, बल्कि वैशाली नगर में शांति बनाए रखने के लिए उसे किसी एक की पत्नी नहीं बनाया गया। उसने सालो तक वैशाली के धनवान लोगों का मनोरंजन किया, लेकिन जब वह तथागत गौतम बुद्ध के संपर्क में आई तो सबकुछ छोड़कर बौद्ध भिक्षुणी बन गई।

गौतम बुद्ध के जीवन में कई ऐसे लोग आए, जो अपने जीवन में कुछ और थे और भगवान बुद्ध से मिलने के बाद पूरी तरह बदल गए। भगवान बुद्ध के साथ रहने और उनके विचारों का कमाल था कि कई लोग अपना पुराना जीवन छोड़कर उनके साथ हो गए। आम्रपाली भी उनमें से एक थी, जो वेश्या से बौद्ध भिक्षुक बनी। आम्रपाली की कहानी हमें बताती है कि हमारा जीवन कितना ही बुरा क्यों ना गुजर रहा हो अगर हम किसी सही इंसान के साथ हो जाएं तो फिर जीवन को पूरी तरह बदला जा सकता है।

आगे की स्लाइड्स पर पढ़ें- कौन थी आम्रपाली....कैसे बनी वेश्या और फिर बौद्ध भिक्षुक...

Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha

कौन थी आम्रपाली


आम्रपाली के माता-पिता का तो पता नहीं, लेकिन जिन लोगों ने उसका पालन किया उन्हें वह एक आम के पेड़ के नीचे मिली थी, जिसकी वजह से उसका नाम आम्रपाली रखा गया। वह बहुत खूबसूरत थी, उसकी आंखें बड़ी-बड़ी और काया बेहद आकर्षक थी। जो भी उसे देखता था वह अपनी नजरें उस पर से हटा नहीं पाता था. लेकिन उसकी यही खूबसूरती, उसका यही आकर्षण उसके लिए शाप बन गया। एक आम लड़की की तरह वो भी खुशी-खुशी अपना जीवन जीना चाहती थी, लेकिन ऐसा हो नहीं सका। वह अपने दर्द को कभी बयां नहीं कर पाई और अंत में वही हुआ जो उसकी नियति ने उससे करवाया।

 

 

Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha

क्या हुआ जब आम्रपाली बड़ी हुई


आम्रपाली जैसे-जैसे बड़ी हुई उसका सौंदर्य चरम पर पहुंचता गया जिसकी वजह से वैशाली का हर पुरुष उसे अपनी दुल्हन बनाने के लिए बेताब रहने लगा। लोगों में आम्रपाली की दीवानगी इस हद तक थी की वो उसको पाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते थे। यही सबसे बड़ी समस्या थी। आम्रपाली के माता-पिता जानते थे की आम्रपाली को जिसको भी सौपा गया तो बाकी के लोग उनके दुश्मन बन जाएंगे और वैशाली में खून की नदिया बह जाएंगी। इसीलिए वह किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंच पा रहे थे। इसी समस्या का हल खोजने के लिए एक दिन वैशाली में सभा का आयोजन हुआ।

 

Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha

ऐसे बनी वैश्या

इस सभा में मौजूद सभी पुरुष आम्रपाली से विवाह करना चाहते थे जिसकी वजह से कोई निर्णय लिया जाना मुश्किल हो गया था। इस समस्या के समाधान हेतु अलग-अलग विचार प्रस्तुत किए गए लेकिन कोई इस समस्या को सुलझा नहीं पाया, लेकिन अंत में जो निर्णय लिया गया उसने आम्रपाली की तकदीर को अंधेरी खाइयों में धकेल दिया। सर्वसम्मति के साथ आम्रपाली को नगरवधू यानि वेश्या घोषित कर दिया गया।

Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha

आम्रपाली और बुद्ध

 
बुद्ध अपने एक प्रवास में वैशाली आए। उनका एक शिष्य भिक्षा मांगने आमृपाली के महल पहुंचा। आमृपाली उसे देखते ही प्रेम में पड़ गई। आमृपाली ने उससे कहा कि वर्षाकाल में वो उसके महल में रह सकता है। भिक्षुक ने कहा वो बिना बुद्ध की आज्ञा के कहीं नहीं रूक सकता। आम्रपाली के निवेदन से उसने कहा कि वह बुद्ध से पूछकर जवाब देगा। बुद्ध ने उसे आज्ञा दे दी, क्योंकि उन्हें अपने धम्म पर विश्वास था। चार महीने तक आमृपाली उस भिक्षुक को आकर्षित करने की कोशिश करती रही मगर उसका कोई प्रभाव भिक्षुक पर नहीं हुआ। चार महीने बाद जब भिक्षुक वापस बुद्ध के पास लौटा तो आम्रपाली भी बुद्ध की शरण में पहुंची और बोली मैं आपके सिखाएं धम्म के आगे नतमस्तक हूं। मेरा कोई भी प्रयास आपके भिक्षुक को मेरी और आकर्षित नहीं कर सका। मैं भी आपकी शरण में आना चाहती हूं। तभी से आम्रपाली बौद्ध भिक्षुणी हो गई और पूरे जीवन उसने उसी रूप में बिताया।
X
Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam BuddhaStory of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha
Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam BuddhaStory of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha
Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam BuddhaStory of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha
Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam BuddhaStory of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha
Story of Amrapali Nagarvadhu and Gautam BuddhaStory of Amrapali Nagarvadhu and Gautam Buddha
COMMENT