Sanskar Aur Sanskriti

--Advertisement--

शिवजी को इस तरह चढ़ाए बिल्वपत्र, ऐसा करने पर घर आती हैं धनलक्ष्मी

शिवपुराण में बिल्ववृक्ष की जड़ में सभी तीर्थस्थान माने गए हैं। इसलिए बिल्ववृक्ष की पूजा का शिव उपासना में विशेष महत्व है

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 01:21 PM IST
Wonder Benefits and Uses of Bael

शिवपुराण में बिल्ववृक्ष की जड़ में सभी तीर्थस्थान माने गए हैं। इसलिए बिल्ववृक्ष की पूजा का शिव उपासना में विशेष महत्व है। मगर क्या आपको पता है इसे पूजे जानें के पीछे सिर्फ धार्मिक कारण ही नहीं है, बल्कि वैज्ञानिक कारण भी है आइए जानते हैं बिल्व के धार्मिक व आयुर्वेदिक गुण। साथ ही कैसे शिवजी को बिल्वपत्र चढ़ाना चाहिए आइए जानते हैं पूरी विधि...

दर्शनं बिल्वपत्रस्य स्पर्शनं पापनाशनम् ।
अघोरपापसंहारं बिल्वपत्रं शिवार्पणम् ।।

- शिव को खासतौर पर तीन पत्ती वाले बिल्वपत्र चढ़ाना न केवल पाप का नाश करता है, बल्कि पाप नाश होने से घर में धनलक्ष्मी आती है, जो सभी कार्य और मनोरथ सिद्ध कर देती है।

इस तरह चढ़ाएं बिल्वपत्र
- नहाने के बाद स्वच्छ वस्त्र पहन कर शिवालय में जाकर शिव पर जल या दूध की धारा समर्पित करें।
- पंचोपचार पूजा में गंध, अक्षत के बाद तीन पत्ती वाले 11, 21, 51 या श्रद्धानुसार अधिक से अधिक बिल्वपत्र शिवलिंग पर इस मंत्र को बोलते हुए चढ़ाएं-

त्रिदलं त्रिगुणाकारं त्रिनेत्रं त्रयायुधम्।
त्रिजन्म पापसंहारंमेकबिल्वं शिवार्पणम।।

- पूजा, नैवेद्य व बिल्वपत्र अर्पण के बाद शिव मंत्र जप, स्तुति कर शिव आरती करें।

- अंत में शिव से सुखद और निरोगी जीवन की कामना करें।

- बिल्वपत्र 6 महीने तक बासी नहीं माना जाता। इसे एक बार शिवलिंग पर चढ़ाने के बाद धोकर पुन: चढ़ाया जा सकता है। कई जगह शिवालयों में बिल्वपत्र उपलब्ध नहीं हो पाने पर इसके चूर्ण को चढ़ाने का विधान भी है।

Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
X
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Wonder Benefits and Uses of Bael
Click to listen..