--Advertisement--

पति-पत्नी में अक्सर होते हों झगड़े तो ये उपाय काम के साबित हो सकते हैं

पति-पत्नी के खट्टे-मीठे रिश्ते में लड़ाई-झगड़ा भी होता हैं और प्यार भी।

Danik Bhaskar | Dec 26, 2017, 01:46 PM IST

पति-पत्नी के खट्टे-मीठे रिश्ते में लड़ाई-झगड़ा भी होता हैं और प्यार भी। शिष्टाचार और मैनर्स की बातें इस रिश्ते के बीच बड़ी ही अजीब लगती हैं, लेकिन कई बार कपल के छोटे-मोटे झगड़े, मन-मुटाव और ड्रामेबाजी इतनी बढ़ जाती है कि रिश्ते में कड़वाहट आनी शुरू हो जाती है। साथी का बात-बात पर नाराज होना, ड्रामा करने की आदत दूसरे के लिए सिरदर्द बन जाती है। अगर आपका साथी भी आपको बात-बात पर नखरें दिखाता है या अापकी गलती निकालता है तो सबसे पहले यह जानें कि उसके ऐसा व्यवहार करने के पीछे वजह क्या हैं? और ये संभव नहीं है तो आपको इसका निदान निकालने के लिए कुछ ज्योतिष से जुड़े उपाय अपनाना चाहिए।

ज्योतिष के अनुसार गुरु ग्रह को विवाह का कारक ग्रह माना गया है। विवाह का स्थान जन्म पत्रिका का सप्तम स्थान होता है। कुंडली के इस स्थान में यदि सूर्य, गुरु, राहु, मंगल, शनि जैसे ग्रह हो या इस स्थान पर इनकी दृष्टि हो तो जातक का वैवाहिक जीवन परेशानियों से भरा होता है। सप्तम स्थान पर सूर्य का होना निश्चित ही तलाक का कारण है। वही कुंडली में गुरु के कमजोर होने पर भी विवाह से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे उपाय जो गुरु ग्रह से जुड़ी समस्याओं को खत्म कर वैवाहिक जीवन से कलह को खत्म कर सकते हैं।