--Advertisement--

सफलता और सेहत के लिए घर में रोज करना चाहिए ये 1 उपाय

हिंदू धर्म में पूजा के दौरान रोजाना दीपक जलाने की परंपरा बहुत प्राचीन है। दीपक वह पात्र है

Danik Bhaskar | Nov 21, 2017, 01:17 PM IST
remedy for money problem remedy for money problem

हिंदू धर्म में पूजा के दौरान रोजाना दीपक जलाने की परंपरा बहुत प्राचीन है। दीपक वह पात्र है, जिसमें घी या तेल रख कर सूत में ज्योति प्रज्वलित की जाती है। पारंपरिक तौर पर केवल मिट्टी के दीये जलाये जाते थे, लेकिन अब लोग घर में धातु के दीये भी जलाने लगे हैं। दीपक जलाने के पीछे बुजुर्ग तर्क देते हैं कि इससे घर का अंधकार दूर होता है, लेकिन इसे जलाने के धार्मिक और वैज्ञानिक दोनों फायदे हैं।

दीपक की लौ पूर्व दिशा की ओर रखना चाहिए। इससे आयु में वृद्धि होती है। किसी शुभ काम से पहले दीपक जलाते समय इस मंत्र का जप करने से शीघ्र ही सफलता मिलती है-

दीपज्योति: परब्रह्म:
दीपज्योति: जनार्दन:
दीपोहरतिमे पापं संध्यादीपं नमोस्तुते…
शुभं करोतु कल्याणमारोग्यं सुखं सम्पदां
शत्रुवृद्धि विनाशं च दीपज्योति: नमोस्तुति…
अगली स्लाइड पर पढ़ें- दीपक की उपयोगिता
remedy for money problem remedy for money problem
एयर प्यूरीफायर
दीपक की ज्योत का धुंआ घर के लिए एयर प्यूरीफायर का काम करता है, लेकिन इसके लिए दीपक घी या तेल(सरसों) का लगाएं। घी और तेल की सुगंध घर की हवा में मौजूद हानिकारक कणों को बाहर निकालती है। साथ ही, दीपक की तरंगे घर में मौजूद उदासीनता को दूर करने में मदद करती है। माना जाता है कि तेल के दीपक का असर दीपक के बुझने के आधे घंटे बाद तक वातावरण में रहता है। वहीं घी का दीपक, बुझने के बाद करीब चार घंटे तक आसपास के वातावरण को सात्विक बनाए रखता है। इससे अस्थमा के मरीजों को भी काफी फायदा पहुंचता है।