निदान

--Advertisement--

शनि से राहू तक, कुंडली के खराब ग्रहों को इन छोटी-छोटी बातों को सुधार कर भी कर सकते हैं ठीक

कुछ बातें ऐसी हैं जो अगर हम रोजमर्रा के जीवन में ध्यान रखें तो सभी ग्रहों के बुरे प्रभाव को ठीक कर सकते हैं।

Dainik Bhaskar

Mar 03, 2018, 05:00 PM IST
how to get positive effects of all planets in kundali

यूटिलिटी डेस्क. कुंडली में ग्रह खराब हो तो जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ग्रहों को ठीक करने के लिए कई उपाय किए जाते हैं। कुछ बातें ऐसी हैं जो अगर हम रोजमर्रा के जीवन में ध्यान रखें तो सभी ग्रहों के बुरे प्रभाव को ठीक कर सकते हैं।

ज्योतिषाचार्य पं. बी.पी. द्विवेदी के अनुसार हम रोज की आदतों में बदलाव करके भी कई बुरे प्रभावों को दूर कर सकते हैं। ऐसे उपायों का सबसे बड़ा लाभ ये है कि हमारे ग्रह तो ठीक होते ही हैं, जीवन सुधरता है और इन उपायों का हमारे जीवन में कभी कोई साइड इफेक्ट्स का डर भी नहीं रहता। अगर ये पता नहीं हो कि कुंडली के बुरे ग्रह को कैसे ठीक करें, तो हमें इन आदतों को सुधारने की कोशिश करनी चाहिए। इससे भी धीरे-धीरे ग्रह अच्छा प्रभाव देने लगते हैं।

राहु के शुभ प्रभाव के लिएः घर आए मेहमानों से प्रेम से बात करें। अगर कोई अनजान भी घर में आए तो उसका सम्मान करें। कम से कम पानी जरूर पिलाएं। अपने बिस्तर पर कभी सिलवटें ना रहने दें।

शनि के शुभ प्रभाव के लिएः जब भी घर में आएं जूते और मोजे सलीके से उतारकर तय स्थान पर रखें। अपने पैरों को धोएं। पैरों पर मैल ना जमनें दें।

शुक्र के शुभ प्रभाव के लिएः जब भी घर आएं तो अपने साथ कुछ सामान लाएं, जैसे कोई खाने की चीज या घर की जरुरत का सामान या बच्चों के लिए कोई चीज। खाली हाथ घर लौटने से लक्ष्मी प्रसन्न नहीं होती। शुक्र शुभ प्रभाव नहीं देता। हर रोज घर में कुछ न कुछ लेकर आना वृद्धि का सूचक माना गया है। ऐसे घर में सुख, समृद्धि और धन हमेशा बढ़ता जाता है।

बुध, सूर्य और चंद्र के शुभ प्रभाव के लिएः घर में पौधे लगाएं, उनकी देखभाल करें। रोज सुबह उनको पानी दें। नियमित रुप से खाद आदि भी डालें। जिन घरों में लगाए गए पौधे देखभाल के अभाव में सूख जाते हैं, वहां ये ग्रह बुरा प्रभाव देते हैं।

चंद्र के शुभ प्रभाव के लिएः घर में पानी की फिजूलखर्ची को रोकें। पानी जरूरत के हिसाब से ही उपयोग करें। प्यासे लोगों को पानी पिलाएं।

सूर्य के शुभ प्रभाव के लिएः अग्नि का अपमान ना करें। किसी भी इंसान के आत्मविश्वास को गिराएं नहीं।

केतु के शुभ प्रभाव के लिएः घर में फिश एक्वेरियम रखें। मछलियों को रोज दाना खिलाएं। उनकी पूरी केयर करें।

गुरु के शुभ प्रभाव के लिएः अपने से उम्र में बड़े लोगों का सम्मान करें। रोज सुबह माता-पिता और उनके समान लोगों के पैर छुएं। जहां बड़ों का अपमान होता है, वहां कुंडली में गुरु कभी शुभ प्रभाव नहीं देता।

मंगल के शुभ प्रभाव के लिएः रक्तदान करने की आदत डालें। इससे कई फायदे होते हैं। मंगल रक्त का कारक ग्रह है। ब्लड डोनेशन से हमारी कुंडली के खराब मंगल को ठीक किया जा सकता है। अगर कुंडली में मंगल खराब है तो साल में कम से कम दो बार ब्लड डोनेट करें।

how to get positive effects of all planets in kundali
X
how to get positive effects of all planets in kundali
how to get positive effects of all planets in kundali
Click to listen..