विज्ञापन

भाग्यहीन भी बन सकता है भाग्यशाली, बस घर में रोज करें ये 5 शुभ काम

Dainik Bhaskar

Mar 06, 2018, 05:00 PM IST

यहां बताए जा रहे शुभ काम करते रहने से हर काम में भाग्य का साथ मिल सकता है।

how to get happiness in hindi, money problems and astrological measures in hindi
  • comment

अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में ग्रहों के दोष होते हैं तो भाग्य की मदद नहीं मिल पाती है और हर काम में आसानी से सफलता नहीं मिलती है। शास्त्रों में कुछ ऐसे काम बताए गए हैं, जिन्हें नियमित रूप से करते रहने पर दुर्भाग्य दूर किया जा सकता है। यहां जानिए उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. दयानंद शास्त्री के अनुसार 5 ऐसे शुभ काम, जिनकी मदद से कोई भी व्यक्ति भाग्यशाली बन सकता है...

पहला काम

हिन्दी पंचांग के अनुसार हर माह चतुर्दशी और अमावस्या पर परिवार के मृत सदस्यों के लिए विशेष पूजा-पाठ करनी चाहिए। अमावस्या पर पितर देवता के लिए तर्पण करें। इन तिथियों पर पितरों के लिए धूप देना चाहिए।

दूसरा काम

रोज घर की कुल देवी की पूजा करनी चाहिए। मान्यता के अनुसार हर कुल की एक आराध्य देवी होती है। जिनकी आराधना परिवार के सभी लोगों को नियमित रूप से करनी चाहिए। विशेष तीज-त्योहारों पर अन्य देवी-देवताओं के साथ ही कुल देवी की भी पूजा करना न भूलें। कुल देवी की पूजा से सभी बाधाएं जल्दी दूर हो सकती हैं।

तीसरा काम

घर में जब भी खाना बनता है तो सबसे पहले भगवान को भोग लगाना चाहिए। साथ ही, पहली रोटी गाय के लिए निकालना चाहिए और अंतिम रोटी कुत्ते के लिए निकालनी चाहिए। इस बात का ध्यान रखने पर घर में बरकत बनी रहती है।

चौथा काम

घर आए गरीबों को धन का या अनाज का दान अवश्य करना चाहिए। कोशिश यही करनी चाहिए कि जो भी गरीब हमारे घर आता है, वह कभी खाली नहीं जाना चाहिए। दान करने से बड़ी-बड़ी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

पांचवां काम

किचन में गंदगी न रखें। रसोईघर हमेशा साफ रहना चाहिए। अन्यथा मंगल ग्रह के दोष बढ़ सकते हैं। इन दोषों की वजह से कार्यों में रुकावटें आती हैं।

इन बातों का रखें ध्यान

यहां बताए गए सभी शुभ कामों के साथ हमें गलत कामों से और गलत विचारों से भी बचना चाहिए। घर के बड़ों का सम्मान करें। रोज सुबह उनका आशीर्वाद लेकर दिन की शुरुआत करें। स्त्रियों का सम्मान करें। ऐसा करने पर घर में हमेशा मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

X
how to get happiness in hindi, money problems and astrological measures in hindi
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन