विज्ञापन

आज शाम कर लें इन पांच में कोई एक काम, जाग सकता है सोया हुआ भाग्य

dainikbhaskar.com

Mar 27, 2018, 11:00 AM IST

एकादशी पर की गई पूजा से कुंडली के दोषों से भी मुक्ति मिल सकती है।

Importance of ekadashi vrat, puja path, astro tips about ekadashi puja
  • comment

यूटिलिटी डेस्क. आज मंगलवार, 27 मार्च को चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी है। इसे कामदा एकादशी कहा जाता है। पद्म पुराण के अनुसार हर एकादशी पर भगवान विष्णु की पूजा की जाती है और उन्हें प्रसन्न करने के लिए व्रत रखा जाता है। भगवान विष्णु की कृपा से किसी भी व्यक्ति का सोया हुआ भाग्य जाग सकता है। यहां जानिए उज्जैन के एस्ट्रोलॉजर पं. दयानंद शास्त्री के अनुसार इस एकादशी की शाम कौन-कौन से उपाय किए जा सकते हैं...

इस व्रत से पूरी हो सकती हैं सभी इच्छाएं

चैत्र मास की एकादशी का महत्व काफी अधिक है, क्योंकि चैत्र मास से ही हिन्दू नव वर्ष की शुरुआत होती है। शास्त्रों के अनुसार जो व्यक्ति कामदा एकादशी का व्रत करता है, वह मोक्ष प्राप्त करता है। कामदा एकादशी का उल्लेख विष्णु पुराण में भी किया गया है। कामदा एकादशी के व्रत से भक्त की सभी इच्छाएं पूरी हो सकती हैं।

एकादशी की शाम कर सकते हैं ये उपाय

- तुलसी के पास दीपक जलाएं, लेकिन ध्यान रखें तुलसी को छूना नहीं है। दीपक जलाने के बाद परिक्रमा करें।

- हनुमानजी की मूर्ति के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें।

- किसी शिव मंदिर में जो सुनसान स्थान पर हो, वहां शिवलिंग के पास घी का दीपक जलाएं।

- भगवान विष्णु के साथ ही महालक्ष्मी की भी पूजा करें। पूजा में दक्षिणावर्ती शंख, गोमती चक्र, पीली कौड़ी भी अवश्य रखें।

- पति-पत्नी, दोनों एक साथ भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करें, पूजा में पीला फल और पीले फूल अर्पित करें।

इन उपायों से भाग्य से जुड़ी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

X
Importance of ekadashi vrat, puja path, astro tips about ekadashi puja
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन