--Advertisement--

ऐसे जूते गलती से भी न पहनें, वरना शुरू हो सकता है आपका बुरा समय

शनि के संबंध में बताए गए नियमों का पालन करने पर बुरे समय से बच सकते हैं।

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 05:00 PM IST

हमारी दैनिक उपयोग की चीजों से हमारा भाग्य जुड़ा रहता है। ज्योतिष की मान्यता है कि हमारे शरीर के अलग-अलग अंगों में अलग-अलग ग्रहों का वास होता है या ऐसा भी कह सकते हैं कि हमारे अंगों के अलग-अलग ग्रह प्रतिनिधित्व करते हैं। पैरों का कारक ग्रह है शनि। शनि न्यायाधीश है और हमारे कर्मों का फल प्रदान करता है। इसीलिए इसे कर्मफल दाता भी कहते हैं। कुंडली में अष्टम यानी आठवां भाव शनि से संंबंधित है। ये भाव अशुभ हो तो व्यक्ति के बुरे समय का सामना करना पड़ता है। इसीलिए अगर अशुभ जूते पहने जाएंगे तो व्यक्ति का बुरा समय शुरू हो सकता है। यहां जानिए कैसे जूते पहनने से बचना चाहिए…


1. कभी भी किसी बाहरी व्यक्ति द्वारा उपहार में दिए गए जूते नहीं पहनना चाहिए। ऐसे जूते शनि का दान होते हैं। ये धारण करने से शनि क्रोधित हो सकता है और कुंडली का अष्टम भाव अशुभ हो सकता है।
2. फटे हुए जूते पहनने से बचना चाहिए। जो लोग फटे जूते पहनते हैं, उन्हें धन संबंधी कामों में आसानी से सफलता नहीं मिलती है।
3. काले जूते सभी के लिए शुभ माने गए हैं। काला शनि का प्रिय रंग है और जूते भी संबंधित से संबंधित है। इस कारण काले जूते पहनने से शनि से शुभ फल मिल सकते हैं।
4. नौकरी करने वालों के लिए भूरे जूते अशुभ माने गए हैं। इन्हें काले जूते पहनना चाहिए।
5. जो लोग चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े हैं, उन्हें सफेद या हरे जूते पहनने से बचना चाहिए। सफेद रंग के जूते से चंद्र और हरे जूते से बुध के दोष बढ़ सकते हैं।
6. लाल या पीले जूते पहनने से भी बचना चाहिए, क्योंकि इन रंगों के जूते मंगल और गुरु के दोषों को बढ़ाते हैं।