Rashi Aur Nidaan

--Advertisement--

जो करता है इस विधि से पूजा, हमेशा उसकी रक्षा करते हैं शनिदेव

30 दिसंबर को शनि प्रदोष है। इस दिन पूजा करने पर शनिदेव प्रसन्न होते हैं और भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करते हैं।

Dainik Bhaskar

Dec 28, 2017, 05:00 PM IST
this is the simple worship method of lord shani.

30 दिसंबर को शनि प्रदोष है। इस दिन विधि-विधान से पूजा करने पर शनिदेव प्रसन्न होते हैं और भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करते हैं। पद्म पुराण के उत्तर खंड में शनिदेव ने स्वयं राजा दशरथ को अपनी पूजा विधि बताई है और ये कहा कि जो भी इस विधि से मेरी पूजा करेगा, उसे मैं कभी कष्ट नहीं दूंगा और हमेशा उसकी रक्षा करूंगा।

शनिदेव ने क्यों दिया राजा दशरथ को ऐसा वरदान?
प्राचीन समय में जब अयोध्या के राजा दशरथ थे, उस समय ज्योतिषियों ने उन्हें बताया कि शनिदेव कृत्तिका नक्षत्र के अंत में पहुंच गए हैं और वे रोहिणी नक्षत्र का भेदन करके आगे बढ़ेंगे। ऐसा होने से संसार में 12 सालों तक भयंकर अकाल पड़ेगा। लोग पानी और अन्न के लिए तरस जाएंगे।
ज्योतिषीयों की बात सुनकर राजा दशरथ ने बहुत विचार किया और अपने दिव्यास्त्र लेकर नक्षत्र मंडल में शनिदेव से युद्ध करने पहुंच गए। राजा दशरथ का साहस देखकर शनिदेव प्रसन्न हो गए और उनसे वरदान मांगने को कहा। तब राजा दशरथ ने कहा कि- जब तक सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी है, आप रोहिणी नक्षत्र का भेदन न करें।
शनिदेव ने राजा दशरथ को ये वरदान दे दिया। राजा दशरथ ने भी यहा कि आज से आप देवता, असुर, मनुष्य, पशु, पक्षी आदि किसी भी प्राणी को पीड़ा न दें। तब शनिदेव ने कहा कि- जो भी विधि-विधान से मेरी पूजा करेगा। मैं उसे कभी कोई कष्ट नहीं दूंगा और हमेशा उसकी रक्षा करूंगा। इस तरह शनिदेव से वरदान लेकर राजा दशरथ पुनः पृथ्वी पर लौट आए।


शनिदेव ने राजा दशरथ को जो पूजा विधि बताई, उसे जानने के लिए आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें-



this is the simple worship method of lord shani.
this is the simple worship method of lord shani.
this is the simple worship method of lord shani.
this is the simple worship method of lord shani.
X
this is the simple worship method of lord shani.
this is the simple worship method of lord shani.
this is the simple worship method of lord shani.
this is the simple worship method of lord shani.
this is the simple worship method of lord shani.
Click to listen..