--Advertisement--

5 नींबू का तांत्रिक उपाय- बड़ी से बड़ी बाधा हो सकती है दूर, ये हैं तंत्र शास्त्र के 7 उपाय

भैरव भगवान के उपाय करते रहने से कुंडली के सभी दोष दूर हो सकते हैं।

Danik Bhaskar | Mar 10, 2018, 05:00 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. शिवपुराण के अनुसार शिवजी का एक महत्वपूर्ण अवतार है भैरव। भैरव भगवान की कृपा से बड़ी से बड़ी बाधा दूर हो सकती है। तंत्र शास्त्र में भैरव नाथ की पूजा विशेष रूप से की जाती है। तंत्र में बताए गए उपायों से धन संबंधी परेशानियां से छुटकारा मिल सकता है। यहां जानिए उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. दयानंद शास्त्री के अनुसार भैरव बाबा के कुछ खास तांत्रिक उपाय...

शनि, राहु-केतु के दोष हो सकते हैं दूर

अगर किसी व्यक्ति को शनि, राहु या केतु की दशा या महादशा के चलते कोई कष्ट हो रहा है तो उसे भैरव भगवान की पूजा करनी चाहिए। इस उपाय से कुंडली के दोष दूर हो सकते हैं।

पहला उपाय

लगातार पांच गुरुवार तक भैरवजी को पांच नींबू चढ़ाएं और परेशानियों को दूर करने की प्रार्थना करें। ध्यान रखें ये उपाय बिना बाधा के करना है। पांच गुरुवार लगातार करें।

दूसरा उपाय

बुधवार को सवा किलो जलेबी भैरव नाथ को चढ़ाएं। इसके बाद ये जलेबी कुत्तों को खिला दें। इससे कुंडली के सभी ग्रह दूर हो सकते हैं।

तीसरा उपाय

हर रविवार अपने शहर के रेल्वे स्टेशन पर जाकर किसी बीमार या गरीब को धन का और खाने की चीजों का दान करें। इससे बड़ी-बड़ी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

चौथा उपाय

बुधवार को सवा सौ ग्राम काले तिल, सवा सौ ग्राम काली उड़द, सवा 11 रुपए, सवा मीटर काले कपड़े में पोटली बनाकर भैरव भगवान के मंदिर में चढ़ा दें। भगवान से अपनी मनोकामना कहें। इससे आपकी सभी इच्छाएं पूरी हो सकती हैं।

पांचवां उपाय

अपने शहर या गांव में कोई ऐसा भैरव मंदिर ढूंढे, जहां नियमित रूप से पूजा नहीं होती है, उस मंदिर में हर रविवार पूजा करें। रविवार की सुबह सिंदूर, तेल, नारियल और जलेबी से भैरवजी की पूजा करें।

छठा उपाय

रविवार को किसी भैरव मंदिर में जाएं। भगवान को गुलाब, चंदन चढ़ाएं। इसके बाद अच्छी सुगंध वाली 33 अगरबत्तियां एक जलाएं।

 

सातवां उपाय

रविवार को सरसों के तेल में उड़द की दाल के पकौड़े बनाएं। इसके बाद ये पकौड़े कुत्तों को खिला दें। इस उपाय से भैरव भगवान बहुत प्रसन्न होते हैं।