--Advertisement--

ऐसे लोगों की किस्मत बदल जाती है 35 की उम्र के बाद, ये हैं संकेत

ये हैं कालसर्प दोष के संकेत, राहु-केतु 35 की उम्र के बाद बदल देते हैं किस्मत

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 05:00 PM IST

काफी लोग पितृ दोष, ग्रहण दोष, कालसर्प दोष की वजह से परेशानियों का सामना करते हैं। ये योग अशुभ माने गए हैं। यहां जानिए एस्ट्रोलॉजर डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार इन योगों से जुड़ी खास बातें...

ये हैं कालसर्प दोष के संकेत

1. बुरे सपने आना

2. अकारण मन में भय होना

3. रात में डरना

4. नींद में चमकना

5. सर्प दिखाई देना

6. मृत्यु देखना

7. किसी साये का पास में खड़े होने का आभास होना

8. सफलता के अंतिम पड़ाव में पहुंचने के बाद असफल होना

9. अनचाही बात पर विवाद बढ़ना

10. शत्रुओं की संख्या बढ़ना

11. किसी असाध्य रोग का इलाज होने पर भी फायदा न होना

ये सभी संकेत ये बताते हैं कि व्यक्ति की कुंडली में कालसर्प दोष है।

कुंडली में राहु-केतु के अंश, उनकी स्थिति, उनकी दृष्टि देखकर ही कालसर्प की पूजा करवाना उचित रहता है। कभी-कभी इंसान 35 वर्ष तक की आयु तक आराम की जिंदगी गुजारता है और अचानक धन हानि होने लगती है और वह गरीब हो जाता है। कभी-कभी कोई व्यक्ति 35 वर्ष तक गरीब रहता है और अचानक वह धनवान हो जाता है। ऐसा राहु-केतु की वजह से होता है।

राहु-केतु रहस्यमयी ग्रह हैं। जिस व्यक्ति पर राहु-केतु की कृपा हो जाती है, वह सबसे ऊंचे शिखर पर पहुंच सकता है।

कालसर्प दोष के लिए कर सकते हैं उपाय

1. हर शनिवार पीपल की पूजा करें। जल चढ़ाकर सात परिक्रमा करें।

2. किसी पवित्र नदी में चांदी के नाग-नागिन बहा दें।

3. शिवलिंग के साथ ही नाग देवता की भी पूजा रोज करें।