--Advertisement--

रोमांटिक और चंचल होती हैं नीली आंखों वाली महिलाएं

आंखें शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। आंखें न सिर्फ चेहरे को सुंदरता प्रदान करती हैं बल्कि हर दिखने वाली वस्तु की सूचना

Danik Bhaskar | Mar 13, 2018, 05:00 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. आंखें शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। आंखें न सिर्फ चेहरे को सुंदरता प्रदान करती हैं बल्कि हर दिखने वाली वस्तु की सूचना भी मस्तिष्क तक पहुंचाती हैं। हम आंखों के बिना जीने की कल्पना भी नहीं कर सकते।
आंखों के ऊपर की भौंहे यानी आईब्रो भी चेहरे को सुंदरता प्रदान करती हैं। समुद्र शास्त्र के अनुसार, आंखों व आईब्रो को देखकर भी मानवीय स्वभाव के बारे में काफी कुछ जाना जा सकता है। शरीर लक्षण विज्ञानियों के अनुसार आंखों व आईब्रो के कई भेद होते हैं जैसे-

नशीली आंखें
नशीली आंखों वाला व्यक्ति हर समय नशे में दिखता है, लेकिन वास्तव में ऐसा होता नहीं है। यह आंखें सामान्य से कुछ कम खुलती हैं। इसकी पुतलियों का रंग काला होता है। ऐसे लोग शातिर तथा अपनी बात मनवाने वाले होते हैं। इनके दिमाग में हमेशा कुछ न कुछ चलता रहता है। यह लालची व शराब पीने वाले हो सकते हैं। ऐसी आंखों वाली महिला आकर्षक, अधिक बोलने वाली तथा लालची हो सकती हैं।

कमल नयन (कमल के पत्ते के समान)
समुद्र शास्त्र के अनुसार, ये आंखें आदर्श होती हैं। इसकी पुतलियों का रंग गहरा काला या भूरा होता है। कमल नयन आंखों वाले लोग समझदार, पढ़ाई करने वाले, सभी प्रकार के सुख प्राप्त करने वाले, मेहनती तथा सबका दिल जीतने वाले होते हैं। ऐसी महिलाएं मन मोहने तथा सबको आकर्षित करने वाली होती हैं। इनमें नेतृत्व क्षमता भी होती है।

मृगनयनी आंखें
समुद्र शास्त्र के अनुसार, ऐसी आंखें गोल व बड़ी होती हैं। ऐसी आंखें सिर्फ महिलाओं की होती है। इनका रंग भूरा या नीला होता है। ऐसी महिलाएं जीवन में जो चाहती हैं वह प्राप्त कर लेती हैं। सभी क्षेत्रों में इन्हें सफलता मिलती है। ऐसी आंखों वाली महिलाएं दयालु, दूसरों का दुख-दर्द समझने वाली व प्यार करने वाली व थोड़ी चंचल होती हैं।


कैसी आईब्रो वाले व्यक्ति का स्वभाव कैसा होता है, ये जानने के लिए आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें-

तस्वीरों का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

आईब्रो से जानिए ह्यूमन नेचर
मस्तक के निचले भाग व आंखों के ठीक ऊपर बालों की जो पंक्ति होती है, उसे आईब्रो यानी भौहें कहते हैं। अगर यह कहा जाए कि चेहरे की सुंदरता बढ़ाने में भौहें भी खास होती हैं, तो गलत नहीं होगा। हर इंसान की भौहें उसके चेहरे के अनुसार अलग-अलग होती हैं जैसे- किसी की भौहें बहुत गहरी होती हैं तो किसी भी बहुत पतली।
चेहरे के भाव बदलने के साथ ही भौहों का आकार-प्रकार भी बदल जाता है। गुस्सा, खुशी, विस्मय आदि सभी भावों को स्पष्ट करने में भौहों का खास योगदान रहता है। समुद्र शास्त्र के अनुसार, आज हम आपको बता रहे हैं कि किस प्रकार की भौहों वाले व्यक्ति का स्वभाव कैसा होता है-

झुकी हुई भौहें
आमतौर पर इस तरह की भौहों वाला व्यक्ति सामान्य बुद्धि वाला होता है। इसका सामाजिक और पारिवारिक जीवन भी सामान्य ही होता है। इनकी कोई महत्वाकांक्षा नहीं होती। इनका पूरा जीवन अपने परिवार के भरण-पोषण में ही गुजर जाता है। ये बहुत संतोषी प्रवृत्ति के होते हैं। हालांकि औसत जीवन के लिए जो भी इनकी जरूरत होती है, वह पूरी हो जाती है। इसलिए ये अधिक मेहनत नहीं करते।

जुड़ी हुई आईब्रो
जिन लोगों की भौहें गहरी और आपस में जुड़ी होती हैं, वे बहुत ही महत्वकांक्षी और अपने काम के प्रति कर्मठ होते हैं। समय आने पर ये ऐसा काम भी कर जाते हैं, जिसकी इनसे अपेक्षा भी नहीं का जा सकती। ऐसे लोग बहुत मेहनती होते हैं और लगातार अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते रहते हैं। इनके पास औसत धन होता है, लेकिन ये अपनी मेहनत से हर सुख-सुविधा प्राप्त कर लेते हैं।

स्त्रियों की नहीं होना चाहिए जुड़ी हुई आईब्रो
महिलाओं की भौहें आपस में जुड़ी होना शुभ नहीं होता। ऐसी महिलाएं दूसरों से वाद-विवाद करने वाली और झगड़ाड़ू प्रवृत्ति की होती हैं। ये बहुत महत्वाकांक्षी होती हैं, लेकिन जो ये चाहती हैं, वो इन्हें नहीं मिल पाता। इसी कारण ये दूसरों को देखकर जलती रहती हैं। इनका पारिवारिक जीवन भी सुखमय नहीं रहता।
 

अच्छी होती हैं ऐसी आईब्रो
जिस व्यक्ति की भौहें नाक के समीप से ऊपर उठी और कनपटी की ओर जाकर दब जाने वाली होती हैं, उसका स्वभाव अच्छा होता है। अगर इस प्रकार की भौहें आपस में जुड़ी हुई न हो तो ऐसा व्यक्ति अवश्य ही गहन आध्यात्मिक होता है। ऐसे व्यक्ति के विचार बहुत ही उच्च होते हैं और समाज हित में बहुत कार्य करते हैं। सादा जीवन, उच्च विचार- यही इनके जीवन का ध्येय होता है। ऐसे लोग हर काम को एक लक्ष्य की तरह लेते हैं और उसे पूरा करके ही दम लेते हैं। अपने उसूलों व आदर्शों के अनुसार ही ये हर काम करते हैं।

मध्य भाग नीचे वाली आईब्रो
ऐसी भौहें आस-पास से थोड़ी ऊपर की ओर उठी हुई और मध्य भाग में थोड़ी नीचे की ओर होती है। ऐसे भौहों वाला व्यक्ति सौंदर्यप्रेमी होता है। इन्हें कलात्मक चीजें पसंद आती हैं। घूमना-फिरना और मनचाहा काम करना इन्हें पसंद होता है, लेकिन इन पर अधिक विश्वास नहीं किया जा सकता।
कभी-कभी ऐसे भौहों वाले लोग बहुत कपटी भी हो जाते हैं और डरा-धमका कर अपना काम निकाल लेते हैं। ये लोग बोलने में माहिर होते हैं और बहुत ही जल्दी किसी को भी अपने जाल में फंसा लेते हैं, खासतौर पर महिलाओं को। इन लोगों के एक से अधिक स्त्रियों से संबंध होते हैं।

 

सघन गहरी आईब्रो
ये नाक के पास की ओर अधिक पतली हो जाती हैं। इन भौहों को झाड़ू भवें कहा जाता है। ये भौहें शुभ होती हैं क्योंकि ऐसा व्यक्ति अच्छा कूटनीतिज्ञ होता है। ऐसा व्यक्ति राजनीति के क्षेत्र में उच्च पद प्राप्त करता है और लोगों का प्रतिनिधित्व करता है।
इनका रहन-सहन भी शाही होता है। ऐसे लोग भले ही गरीबी में जन्में, लेकिन वे अपनी मेहनत और काबिलियत से वो सब हासिल कर लेते हैं, जो ये चाहते हैं। समाज में भी इनका वर्चस्व होता है। धन, ऐश्वर्य व शौहरत सबकुछ इनके पास होता है।