--Advertisement--

25 मार्च तक देवी मां को ऐसे कराएं स्नान, बुरे से समय हो सकता है दूर

नवरात्र में किए गए उपायों से देवी मां प्रसन्न होती हैं और भक्तों के दुख दूर करती हैं।

Danik Bhaskar | Mar 16, 2018, 05:00 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. इस वर्ष चैत्र नवरात्र 18 मार्च, रविवार से 25 मार्च, रविवार तक है। चैत्र नवरात्र का सर्वाधिक महत्व है, क्योंकि इसकी शुरुआत के साथ ही हिन्दी नववर्ष की भी शुरुआत होती है। ज्योतिष में नवरात्र के लिए कई ऐसे उपाय बताए गए हैं, जिनकी मदद से बुरे से समय को भी दूर किया जा सकता है। देवी मां को स्नान कराने के भी कई तरीके बताए गए हैं। यहां जानिए उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. दयानंद शास्त्री के अनुसार दुर्गा मां को स्नान करवाने के चार तरीके, जिनसे दुर्भाग्य से छुटकारा मिल सकता है।

पहला उपाय

नवरात्र में रोज सुबह जल्दी उठकर नहाएं। इसके बाद कर्पूर, केसर, कस्तूरी, इत्र और कमल के जल से देवी दुर्गा को स्नान कराएं। इस छोटे से उपाय से सभी पापों का नाश हो सकता है और बुरे समय से मुक्ति मिल सकती है।

दूसरा उपाय

नवरात्र में किशमिश के रस से माताजी को स्नान करवाएं। इस उपाय से देवी मां की विशेष कृपा मिलती है और दुखों का अंत हो सकता है।

तीसरा उपाय

नवरात्र में देवी मां को दूध से स्नान करवाएं। इस उपाय से भक्त को सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति हो सकती है।

चौथा उपाय

देवी मां आम या गन्ने के रस से स्नान करवाएंगे महालक्ष्मी और सरस्वती की असीम कृपा मिलती है। धन और ज्ञान की प्राप्ति हो सकती है।

आप यहां बताए चारों तरीकों से देवी मां का स्नान करवा सकते हैं। अगर आप चाहें तो किसी एक तरीके से भी देवी दुर्गा को स्नान करवा सकते हैं।