Rashi Aur Nidaan

--Advertisement--

रोज सूर्य को जल चढ़ाते समय बोलेंगे ये मंत्र तो प्रसिद्धि के साथ मिलेगा धन लाभ

ज्योतिष में सूर्य को ग्रहों का राजा माना जाता है। इस ग्रह की पूजा से कुंडली के दोष दूर हो सकते हैं।

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 05:00 PM IST
sun worship, surya puja ke upay, surya ke upay, how to get success in hindi

ज्योतिष में सूर्य को मान-सम्मान का कारक माना जाता है। शास्त्रों में सूर्यदेव पंचदेव में से एक हैं। सूर्य ही एक मात्र ऐसे देवता हैं जो प्रत्यक्ष दिखाई देते हैं। किसी भी काम की शुरुआत में सूर्य की पूजा करना अनिवार्य परंपरा है।

कुंडली में सूर्य अशुभ हो तो

अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में सूर्य अशुभ हो तो व्यक्ति को घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान नहीं मिल पाता है। किसी भी काम में आसानी से सफलता नहीं मिलती है। आंखों से जुड़ी कोई बीमारी हो सकती है। इन परेशानियों से बचने के लिए रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान के बाद तांबे के लोटे से सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए।

रोज सूर्य को जल चढ़ाने से मिलते हैं ये लाभ

जिन लोगों की कुंडली में सूर्य अशुभ है, उन्हें इस उपाय बहुत सकारात्मक फल मिल सकते हैं। त्वचा की चमक बढ़ती है और आंखों की ज्योति बढ़ती है। रोज सुबह सूर्य से निकलने वाली किरणें हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होती है। सूर्य की किरणों से हमारे शरीर को विटामिन डी मिलता है।

जल चढ़ाते समय ये मंत्र बोलने से मिलता है मान-सम्मान

मान्यताओं के अनुसार सूर्य पूजा का विशेष महत्व है। अगर आप जीवन में सफलता के साथ ही प्रसिद्धि और धन लाभ पाना चाहते हैं तो बिना सूर्य देव की कृपा के ये संभव नहीं है। सूर्य को प्रसन्न करने के लिए जल चढ़ाते समय यहां बताए जा रहे सूर्य मंत्र का जाप करना चाहिए।

ये सूर्य अर्घ्य मंत्र

सूर्य को ये मंत्र बोलकर जल चढ़ाएं...

ऊँ ऐही सूर्यदेव सहस्त्रांशो तेजो राशि जगत्पते।

अनुकम्पय मां भक्त्या गृहणार्ध्य दिवाकर:।।

ऊँ सूर्याय नम:, ऊँ आदित्याय नम:, ऊँ नमो भास्कराय नम:।

अर्घ्य समर्पयामि।।

X
sun worship, surya puja ke upay, surya ke upay, how to get success in hindi
Click to listen..