विज्ञापन

मान्यता- शनिवार को ये 2 चीजें भूलकर भी न खरीदें, शनि हो जाता है क्रोधित

Dainik Bhaskar

Jan 11, 2018, 05:00 PM IST

शनि की कृपा से बुरा समय दूर हो सकता है और शनि अशुभ हो जाए तो दुर्भाग्य का सामना करना पड़ सकता है।

traditions about saturday in hindi, shaniwar ke kaam, shani ke upay
  • comment

शनिवार शनिदेव की आराधना का दिन है। इस दिन शनि के दोषों को शांत करने के लिए पूजा-पाठ और उपाय किए जाते हैं। साथ ही, इस दिन के लिए कई नियम भी बनाए गए हैं, जिससे शनि का बुरा असर हम पर न पड़े। इन्हीं नियमों में से एक नियम ये है कि शनिवार को तेल और जूते-चप्पल खरीदने से बचना चाहिए। इस बात का विशेष ध्यान उन लोगों को रखना चाहिए, जिन पर शनि की साढ़ेसाती या ढय्या चल रही है।

शनि है न्यायाधीश

शनि को न्यायधीश माना गया है। इस वजह से ये काफी क्रूर ग्रह है। शनिदेव गलत काम करने वालों को कभी भी माफ नहीं करते हैं। जिसका जैसा काम होगा उसे शनि वैसा ही फल प्रदान करता है। ये ग्रह मकर और कुंभ राशि का स्वामी भी है। इस समय शनि धनु राशि में है। इस कारण वृश्चिक, धनु और मकर पर साढ़ेसाती है। वृष और कन्या राशि पर शनि की ढय्या चल रही है।

शनिवार को करें तेल और जूते-चप्पल का दान
- ज्योतिष के अनुसार शनिवार को घर में तेल और जूते-चप्पल लेकर नहीं आना चाहिए, क्योंकि तेल शनि को प्रिय है और शनिवार को तेल का दान किया जाना चाहिए।

- हमारे शरीर में शनि का वास पैरों में है, पैरों से संबंधित होने के कारण जूते-चप्पल का कारक भी शनि है।

- शनिवार को तेल या जूते-चप्पल घर लेकर आने से शनि का बुरा प्रभाव हम पर पड़ता है। जिन लोगों की कुंडली में शनि अशुभ है उनके लिए ये काम और भी ज्यादा बुरा फल देने वाला रहता है।

- इन बुरे प्रभावों से बचने के लिए शनिवार को घर में तेल और नए जूते-चप्पल खरीदकर न लाएं। बल्कि इस दिन तेल और जूते का दान करें

X
traditions about saturday in hindi, shaniwar ke kaam, shani ke upay
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन